Haryana News

ओडिशा: दर्दनाक रेल हादसे के बाद..मानवता की मिसाल, रक्तदान करने वालों की लंबी लाइनें

 | 
ओडिशा: दर्दनाक रेल हादसे के बाद..मानवता की मिसाल, रक्तदान करने वालों की लंबी लाइनें

Odisha Train Accident: ओडिशा के बालासोर में शुक्रवार को तीन ट्रेनों की एक भीषण ट्रेन दुर्घटना में अब तक 280 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और 900 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं. मौके पर भीषण बचाव कार्य जारी है. इसी बीच मानवता की मिसाल देने वाली कुछ खास तस्वीरें सामने आई हैं, जिसमें घायलों को रक्तदान करने के लिए लोगों की लंबी-लंबी लाइनें लगी हुई हैं. इसके अलावा राहत और बचाव कार्य में टीमों के साथ स्थानीय लोग भी मदद कर रहे हैं.

दरअसल, स्वास्थ्य विभाग ने रक्तदान के लिए कैंप लगा दिया है जहां लोग रक्तदान कर रहे हैं. इस बचाव कार्य में स्थानीय लोग जमकर मदद कर रहे हैं. वे घायलों को अस्पताल पहुंचाने समेत कई कामों में सहयोग कर रहे हैं. घायलों के इलाज के लिए अचानक से खून की डिमांड बढ़ गई और तमाम यूनिट्स ब्लड की जरुरत पड़ गई. इसी को देखते हुए लोगों ने मानवता की मिशाल पेश की है. लोग अपने आप ही अस्पतालों में रक्तदान करने के लिए पहुंच रहे हैं.

कुछ तस्वीरें सामने आई हैं जिनमें दिख रहा है कि हालात यह हैं कि अस्पतालों में रक्तदान करने वालों की लाइनें लगी हुई हैं. बताया गया कि बालासोर में रात भर में 500 यूनिट खून एकत्र किया गया है. एक मीडिया रिपोर्ट मुताबिक वहां युवाओं की भीड़ जमा है और लंबी लाइन लगी है. युवाओं के हाथ में फॉर्म दिख रहे. कुछ 2 घंटे से खड़े, तो कोई 4 घंटे से खड़ा था. ये वे युवा हैं जो मेडिकल कॉलेज में ब्लड डोनेट करने आए हैं. 

मालूम हो कि देश को हिला देने वाली यह दुर्घटना शुक्रवार शाम कोलकाता से 250 किमी दक्षिण और भुवनेश्वर से 170 किमी उत्तर में बालासोर जिले के बहनागा बाजार स्टेशन के पास हुई है. हादसे के बाद ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक दिन के राजकीय शोक का आदेश दिया है. वहीं रेलवे ने इस हादसे के पीड़ितों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है. मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा जबकि घायलों को 2-2 लाख का मुआवजा दिया जाएगा. मामूली रूप से घायल लोगों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे.