Haryana News

Marriage Records: 32 साल में रचाई 100 से ज्यादा महिलाओं से शादी, किसी को भी नहीं दिया तलाक

 | 
Marriage Records: 32 साल में रचाई 100 से ज्यादा महिलाओं से शादी, किसी को भी नहीं दिया तलाक

Who is Giovanni Vigliotto: गिनीज बुक में शामिल होने के लिए लोग क्या नहीं करते. यह सिलसिला बदस्तूर जारी है और आगे भी रहेगा. कोई अपने बाल बढ़ा रहा है तो कोई नाखून. किसी ने सबसे लंबी दाढ़ी रखी है तो किसी ने सबसे ज्यादा वजन उठा डाला. लेकिन आज जिस शख्स की हम आपको कहानी बताने जा रहे हैं, उसने सबसे ज्यादा शादियां करने का रिकॉर्ड बनाया है. जी हां! यह सच है.

इस शख्स ने 100 से ज्यादा महिलाओं को हमसफर बनाया है. उसने साल 1949 से 1981 के बीच इन महिलाओं से शादी की. दिलचस्प बात है कि इतनी शादियां करने के लिए इस शख्स ने किसी से तलाक नहीं लिया.सबसे ज्यादा शादियां करने का रिकॉर्ड उसके नाम है. 

गिनीज बुक ने शेयर किया ट्वीट
इसका एक वीडियो ट्विटर पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने शेयर किया है. इस शख्स का नाम है जियोवन्नी विगलियोटो. बताया जाता है कि उसका यह असली नाम नहीं है. उसने आखिरी पत्नी से विवाह के समय इसी नाम का उपयोग किया था. 

उसको 53 साल की उम्र में पकड़ा गया था. उसने बताया कि वह 3 अप्रैल 1929 को इटली के सिसिली में पैदा हुआ था. उस वक्त उसने अपना नाम निकोलई पेरूस्कोव बताया था. लेकिन बाद में एक प्रॉसीक्यूटर ने दावा किया था कि उसका असली नाम फ्रेड जिप है और वह न्यूयॉर्क में 3 अप्रैल, 1936 को हुआ था. 

104-105 महिलाओं से की शादी
साल 1949 से 1981 के बीच विगलियोटो नाम के इस व्यक्ति ने 105-105 महिलाओं से शादी रचाई. हैरानी की बात है कि इनमें से कोई महिला एक दूसरे को नहीं जानती थी. इतना ही नहीं, विगलियोटो के बारे में भी उनको ज्यादा नहीं मालूम था. जानकारी के मुताबिक, इस शख्स ने 14 देशों और अमेरिका के 27 विभिन्न राज्यों में शादियां रचाईं. नकली पहचान बताकर वह इन महिलाओं को फंसाता था.

पहली डेट पर करता था प्रपोज
 विगलियोटो इन महिलाओं से चोर बाजार में मुलाकात करता था. पहली ही डेट पर वह इन महिलाओं को शादी के लिए प्रपोज कर देता था. बाद में उनके पैसे और कीमती सामान लेकर रफूचक्कर हो जाता था. गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की वेबसाइट के मुताबिक,  विगलियोटो अकसर महिलाओं से कहता था कि उसका घर बहुत दूर है, इसलिए वह अपना सारा सामान लेकर उसके पास आ जाए. इसके बाद महिलाएं सामान पैक कर लेती थीं और वह ट्रक में सामान डालकर फरार हो जाता था. इसके बाद उसका नामोनिशान नहीं मिलता था. वह सामान को चोर बाजार में बेचकर अपने अगले शिकारकी तलाश में निकल पड़ता था. उसकी कई बार शिकायतें हुईं लेकिन फिर भी वह फरार हो जाता था. 

जब पकड़ा गया तो...
जो महिला उसकी आखिरी शिकार बनी थी, उसने फ्लोरिडा में उसको पकड़ लिया था. शारोन क्लार्क नाम की यह महिला इंडियाना के चोर बाजार में ही काम करती थी. 28 दिसंबर 1981 को विगलियोटो पकड़ा गया. जनवरी 1983 में उसके खिलाफ ट्रायल शुरू हुआ, जिसमें उसे 34 साल कैद की सजा सुनाई गई. इसके अलावा 336000 डॉलर का फाइन भी लगाया गया था. उसकी जिंदगी के आखिरी 8 एरिजोना की जेल में बीते थे. साल 1991 में उसका 61 साल की उम्र में निधन हो गया था.