Haryana News

मजदूर पति ने पत्नी को पढ़ाने के लिए बेचा खेत, सरकारी नौकरी मिलते ही कुछ यूं मारी पलटी!

 | 
मजदूर पति ने पत्नी को पढ़ाने के लिए बेचा खेत, सरकारी नौकरी मिलते ही कुछ यूं मारी पलटी!

Husband Cheated Wife: आपने पतियों की बेवफाई की कहानी तो अक्सर सुनी होगी लेकिन ज्योति मौर्या प्रकरण के बाद पत्नियों की बेवफाई के मामले भी सामने आने लगे हैं. ज्योति मौर्या की तरह एक और मामला बस्ती जिले के कप्तानगंज थाना के धर्मसिंहपुर गांव का सामने आया है. जहां के रहने वाले मजदूर अमित कुमार ने अपनी पत्नी के नर्सिंग की पढ़ाई के लिए खेत तक बेच दिए. मेहनत मजदूरी करके अपना पेट काटकर पढ़ा लिखाकर इस काबिल बनाया कि उसको सरकारी नौकरी मिल गई. नौकरी मिलते ही अब पत्नी ने पलटी मार दी. सरकारी नौकरी मिलने के बाद अपने आशिक के लिए पति के खिलाफ कोर्ट में तलाक और दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करा दिया है.

पति की वजह से पत्नी की लगी सरकारी नौकरी
दरअसल, अमित कुमार की शादी साल 2011 में कप्तानगंज थाना के भुवनपुर गांव की अर्चना से हुई थी. शादी के बाद सब कुछ ठीक-ठाक चलता रहा, दोनों को एक बेटी भी हुई. शादी के कुछ साल बाद अर्चना ने कहा कि मुझे घर में चौका बर्तन नहीं करना है. अब मैं पढ़ना चाहती हूं. पति की माली हालत ठीक नहीं थी, बावजूद के उसने अपनी पत्नी का मान सम्मान रखा और अपने हिस्से की जमीन बेचकर राज नर्सिंग पैरा मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में एडमिशन कराया. एडमिशन के बाद अर्चना नर्सिंग का कोर्स करने लगी. पति ने बकायदे अपनी पत्नी का एडमिशन कराया. हास्टल में रूम एलॉट कराया और पढ़ने-लिखने, खाने-पीने का पूरा खर्च भेजता रहा.

पति ने अपनी पत्नी का नर्सिंग में कराया एडमिशन
पति का आरोप है कि पढ़ाई के दौरान उसकी पत्नी को स्कूल प्रबंधक के भांजे ने अपने प्यार के जाल में फंसा लिया. जब भी वह अपनी पत्नी से मिलने जाता था तो धनंजय मिश्रा घर पर मिलता था. जब पत्नी से इसके बारे में बात की तो कहा की वो उसका दोस्त है. नर्सिंग का कोर्स पूरा होने के बाद अर्चना की पोस्टिंग श्रावस्ती जिले के संयुक्त चिकित्सालय भिंगा में हो गई. पति जब भी अपनी पत्नी से मिलने आवास पर जाता था तो घर पर धनंजय मिश्रा मिलता था. जब अमित ने अपनी पत्नी और धनंजय की नजदीकी को समझा तो उसने आपत्ति शुरू की, जिसके बाद धनंजय ने उसकी पत्नी अर्चना को उकसाकर परिवार न्यायलय में तलाक और दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करा दिया.

शिकायत एसपी से करके मुकदमा दर्ज करने की मांग
अमित दहेज उत्पीड़न वाले मुकदमे में मध्यस्ता के लिए 30 जून को बस्ती न्यायालय पहुंचा. मध्यस्ता के बाद वह घर जा रहा था, खजुहा गांव के पास धनंजय और उसके अन्य साथी उस को रोक कर मारते पीटते हैं और उनका मोबाइल छीन लेते हैं. जान से मारने की धमकी देकर तलाक के लिए दबाव बना रहे हैं. पीड़ित पति के वकील अशोक ओझा ने बताया कि अर्चना ने अपने पति अमित के खिलाफ 498 का मुकदमा दर्ज कराया है, जिसमें उनकी जमानत हो गई है और मध्यस्ता चला रहा है. अमित के ऊपर उनकी पत्नी और धनंजय मिश्रा तलाक लेने का दबाव बना रहे हैं. अमित के साथ मारपीट की गई, जिसकी शिकायत एसपी से करके मुकदमा दर्ज करने की मांग की गई.