Haryana News

पति का पैर मगरमच्छ ने दबोचा तो बचाने के लिए कूद पड़ी पत्नी, फिर हुई चौंकाने वाली घटना

 | 
पति का पैर मगरमच्छ ने दबोचा तो बचाने के लिए कूद पड़ी पत्नी, फिर हुई चौंकाने वाली घटना

Crocodile Attack: राजस्थान के करौली में एक महिला की बहादुरी ने उसके पति को मगरमच्छ के हमले से बचा लिया. 26 वर्षीय मवेशी चराने वाले बन्ने सिंह पर एक मगरमच्छ ने घात लगाकर हमला किया. बन्ने सिंह अपनी बकरियों को पानी पिलाने के लिए चंबल नदी पार कर रहा था, तभी मगरमच्छ ने उसका पैर पकड़ लिया. इसके बाद जो हुआ उस पर आप भरोसा भी नहीं कर पाएंगे. पास में खड़ी उसकी पत्नी विमल बाई ने तुरंत हरकत में आई और उसने अपने पति के पैर को उसकी पकड़ से छुड़ाने के लिए मगरमच्छ को छड़ी से मारा लेकिन उसने नहीं छोड़ा. पत्नी बेहद ही घबरा गई और सोच में पड़ गई कि आखिर अपने पति को मगरमच्छ से चंगुल से कैसे छुड़ाया जाए.

पति के जान के खातिर मगरमच्छ से लड़ गई पत्नी
विमल बाई ने मगरमच्छ की आंख में छड़ी से मारा तो मगरमच्छ उसके पति को पानी में खींचने लगा. इसी दौरान मगरमच्छ ने बन्ने सिंह को अपनी पकड़ से मुक्त कर दिया, और जोड़ी सुरक्षित रूप से वापस भागने में सफल रहे. घायल होने के बावजूद पत्नी की बहादुरी से बन्ने सिंह बच गए. 15 मिनट की कड़ी मशक्कत के दौरान विमल बाई की बहादुरी और तेज सोच ने उनके पति को जिंदा रखा. दैनिक भास्कर के अनुसार, बन्ने सिंह ने आभार व्यक्त किया और दावा किया कि उनकी पत्नी की हरकतें उन्हें अब तक का सबसे अच्छा तोहफा था.

वीडियो में पत्नी ने बताई पूरी कहानी
दूसरी ओर, विमल बाई ने दावा किया कि उसके पति का जीवन दुनिया में सबसे महत्वपूर्ण चीज है और वह उसे बचाने के लिए अपनी जान भी दे देगी. ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक वीडियो क्लिप में विमल बाई ने कहा, "मैंने केवल अपने पति के जीवन को बचाने के बारे में सोचा; मैंने अपने जीवन के बारे में नहीं सोचा. मुझे लगा कि मेरे पति की जान बच जाएगी." इंटरनेट पर वायरल क्लिप के साथ ट्वीट में बताया, “मगरमच्छ के मुंह से अपने पति को बचाने वाली बहादुर विमल मीणा को भी सुनिएगा. सरकार सम्मानित भी कर सकती है.