Haryana News

शादी के बाद विदाई में दुल्हन पर थूकते हैं उसके पिता, यहां कुछ ऐसा है अनोखा रीति-रिवाज

 | 
शादी के बाद विदाई में दुल्हन पर थूकते हैं उसके पिता, यहां कुछ ऐसा है अनोखा रीति-रिवाज

Trending News: दुनिया भर में अनगिनत कपल्स के लिए शादी का दिन उनके जीवन के सबसे यादगार दिनों में से एक होता है. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह कैसे मनाया जाता है या कितनी भव्यता से शादी की जा रही है. यह उनके मिलन का पल है. हालांकि, प्राचीन इतिहास में शादियां हमेशा इतनी आनंदमयी नहीं होती थीं, और अक्सर कुछ सही मायने में अजीबोगरीब और अनोखी रस्मों से भरी होती थीं. मॉडर्न टाइम के रिश्तों और शादियों में बहुत कुछ अलग है. आज हम आपको प्राचीन इतिहास की एक आकर्षक विवाह रस्म के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपको हैरानी में डाल सकती है. इसके बारे में जानकर आप खुद कहेंगे कि हम बेहद ही लकी हैं कि 21वीं सदी में शादी की या करने वाले हैं.

अफ्रीकी ग्रेट लेक्स क्षेत्र में रहने वाले मासाई लोग इस क्षेत्र के सबसे पुराने लोगों में से हैं. और आज भी वे अपनी प्राचीन परंपराओं और रीति-रिवाजों को मानते हैं, ऐसी जीवनशैली जी रहे हैं जो सदियों से ज्यादा नहीं बदली है. यह उनकी शादी की रस्मों में से एक में देखा जा सकता है, जहां नवविवाहित दुल्हन के पिता का आशीर्वाद लेते हैं. हालांकि, यह आशीर्वाद देने का तरीका थोड़ा अजीब है: पिता अपनी बेटी के सिर पर थूक कर उसे आशीर्वाद देता है.

आशीर्वाद के रूप में दुल्हन पर थूकना 
बाद में, वह अपने नए पति के साथ चली जाती है. ऐसी मान्यता है कि दुल्हन पति के साथ जाते वक्त किसी भी हालत में नहीं मुड़ती, नहीं तो वह पत्थर में बदल जाती है. थूकना मासाई के बीच एक महत्वपूर्ण अनुष्ठान है, और अत्यंत सम्मान व्यक्त करता है. समझौते पर हाथ मिलाने पर व्यापारी अपनी हथेलियों पर थूकते हैं और बुजुर्ग नवजात शिशुओं पर थूक कर उन्हें आशीर्वाद देते हैं.