Haryana News

बढ़ता वजन बन गया है चिंता का कारण, एक्सपर्ट से जान लें समाधान

 | 
बढ़ता वजन बन गया है चिंता का कारण, एक्सपर्ट से जान लें समाधान
आकर्षक फिगर हरेक महिला की चाहत होती है, इसलिए वे वजन कम करने के लिए डाइटिंग से लेकर जिम जाने तक तमाम तरीके आजमाती रहती हैं। वैसे इस बात में कोई बुराई भी नहीं है। लेकिन जब आपका वजन आपके तनाव का कारण बन जाए तो बात चिंताजनक हो जाती है। पर, वजन को लेकर असुरक्षित महसूस करने से पहले कुछ बातों पर गौर करना बेहद जरूरी है ताकि यह समझा जा सके कि आपका वजन आपकी पहचान नहीं है। देखा जाए तो वजन बढ़ना एक बेहद सामान्य सी प्रक्रिया है क्योंकि उम्र से लेकर आपके मेटाबॉलिज्म तक बहुत सी बातें आपके वजन को प्रभावित करती हैं। यह बात सही है कि सामान्य से ज्यादा वजन बहुत सारी बीमारियों का कारण बन सकता है, लेकिन यदि आपका बढ़ता वजन आपके आत्मविश्वास को ठेस पहुंचा रहा है तो आपको अपनी सोच बदलने की जरूरत है।

लिखें मन की बातें
डायरी लिखने की आदत किसी थेरेपी की तरह ही काम करती है। तो इस मुफ्त  की थेरेपी का लाभ आप क्यों नहीं उठाती हैं? अपनी डायरी में हर वो विचार लिखें जो आपको अच्छा महसूस कराता है। यह भी जरूर दर्ज करें कि आपको अपनी कौन-सी बात सबसे ज्यादा पसंद है। इसका फायदा यह होगा कि अगली बार जब आप अपने वजन को लेकर फिर से सोच में पड़ेंगी, तो डायरी पढ़कर आपका स्वयं पर विश्वास दोबारा मजबूत हो जाएगा।

दूसरों से तुलना ना करें
इंटरनेट का मायाजाल बहुत आसानी से अपनी गिरफ्त में ले सकता है। लेकिन हर दिखने वाली चीज सच हो, यह जरूरी नहीं है। सोशल मीडिया पर नजर आने वाले हसीन चेहरे और आकर्षक फिगर के पीछे ब्यूटी एक्सपर्ट और स्टाइलिस्ट की एक पूरी टीम होती है। इसी प्रकार अपने आसपास भी किसी और की छरहरी काया देखकर कुढ़ने का कोई फायदा नहीं है क्योंकि हम सब को ईश्वर ने अलग-अलग सांचों में ही ढाला है। वास्तविकता को नजरअंदाज किए बिना खुश होकर अपना जीवन जिएं।

फिटनेस पर हो नजर
विशेषज्ञों की मानें तो सिर्फ कम वजन को फिटनेस का आधार नहीं माना जा सकता है क्योंकि सामान्य से ज्यादा वजन वाले लोग भी सक्रिय रहने पर एक अच्छा और सेहतमंद जीवन जी सकते हैं। सिर्फ वजन कम करने पर ध्यान देने की बजाय फिट रहने के तरीकों पर गौर करें और उन्हें अपनाएं। कभी-कभी किसी बीमारी, दवा के सेवन या अन्य कारण की वजह से भी वजन बढ़ सकता है या बढ़ा हुआ वजन कम नहीं हो पाता। ऐसे में हताश होने के बजाय अपनी सेहत पर ध्यान दें ।

नकारात्मक विचारों को कहें अलविदा
हमारी सोच का हमारे मूड पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है। जैसा हम सोचते हैं, वैसा ही महसूस करते हैं। इसलिए अपने वजन को लेकर खुद को भला-बुरा कहना बंद करें क्योंकि ऐसा ना करने से आपका तनाव बढ़ता ही रहेगा। और बढ़ता हुआ तनाव ज्यादा खाने की इच्छा को बढ़ावा देता है।