Haryana News

सच तो नहीं हो रही Chat GPT को लेकर Carl Pei की भविष्यवाणी? ऐसा हुआ तो खत्म हो जाएगी दुनिया!

 | 
सच तो नहीं हो रही Chat GPT को लेकर Carl Pei की भविष्यवाणी? ऐसा हुआ तो खत्म हो जाएगी दुनिया!

Dangers of Chat GPT: नथिंग के फाउंडर Carl Pei ने कुछ महीने पहले ही भविष्यवाणी की है जो इस साल की सबसे बड़ी भविष्यवाणी मानी जा रही है. दरअसल साल 2023 को लेकर की गई इस भविष्यवाणी में उन्होंने एक ऐसे एआई सॉफ्टवेयर का जिक्र किया है जो किलर सॉफ्टवेयर बन सकता है. काफी सारे लोग इस भविष्यवाणी को चैट जीपीटी से जोड़कर देख रहे हैं. हालांकि अब मार्केट में काफी सारे AI टूल आ चुके हैं. अब कार्ल पी की भविष्यवाणी में कितनी सच्चाई है ये बात तो समय आने पर ही पता चलेगी लेकिन हम आपको बताने जा रहे हैं कि AI अब किन क्षेत्रों में हावी हो रहा है. 

एजुकेशन सेक्टर में हो गया है दाखिल
आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल ने अब बच्चों को पढ़ाना भी शुरू कर दिया है जबकि शुरुआत में जब यह आया था उस दौरान यह सिर्फ लोगों के सवालों के जवाब दे रहा था और उनसे किसी इंसान की तरह ही बात कर रहा था क्योंकि इस टूल के पास यह क्षमता है कि वह नपा तुला जवाब दे पाता है ठीक उसी तरह जिस तरह कोई इंसान बातचीत करता है. सवाल पूछने पर यह आपको गूगल सर्च की तरह लिंक नहीं प्रोवाइड कर रहा था बल्कि सीधा उत्तर बताता है वह भी सटीक.

कंटेंट राइटिंग
कंटेंट राइटिंग के क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल की सीधी दखल हो गई है और अब लोग इसका इस्तेमाल करके कंटेंट राइटिंग का काम बेहद ही आसान बना रहे हैं जो पहले काफी समय लेता था और इसमें काफी सोच विचार करने की जरूरत पड़ती थी. चैट जीपीटी और इस जैसे तमाम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल अब इस काम को बेहद ही आसान बना रहे हैं लेकिन पूरी तरह से इन्हें सटीक नहीं माना जा सकता बावजूद इसके काफी अच्छी तरह से इन्होंने अपनी धाक जमा ली है. इनसे आपको किसी खास विषय पर बस सवाल पूछना है और यह आपको उस विषय के बारे में हर मुमकिन जानकारी उपलब्ध करवाता है वह भी पलक झपकते ही.


इन नौकरियों के लिए बन सकता है खतरा
आपको बता दें कि इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल की वजह से आने वाले समय में लाखों नौकरियां खतरे में पड़ सकती है दरअसल यह कई कामों को इंसानों से बेहतर तरीके से करता है. यह लोगों को पढ़ा सकता है, कंटेंट राइटिंग कर सकता है, एडवाइजर के तौर पर काम कर सकता है, सर्च इंजन के तौर पर काम कर सकता है और भी कई ऐसे काम है जो अब तक इंसान करते हैं लेकिन आने वाले समय में शायद यह टूल उनकी जगह ले लेगा.