Haryana News

Morning Walk : विशेषज्ञ क्यों देते हैं सुबह की सैर की सलाह जानिए, ये 10 बड़े फायदे कर देंगे हैरान

 | 
Morning Walk : विशेषज्ञ क्यों देते हैं सुबह की सैर की सलाह जानिए, , ये 10 बड़े फायदे कर देंगे हैरान

क्या आप एक स्वस्थ जीवन जीने की कामना करते हैं? अगर हां, तो यह देख आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा। इस नए जमाने में आजकल हर एक इंसान स्वस्थ रहने के लिए तरह-तरह के कदमों को उठाता है। कोई घर पर रहकर एक्सरसाइज करना पसंद करता है वहीं कोई जिम जाकर फिट रहने की कोशिश करता है। अगर आपको हैवी एक्सरसाइज करना है या जिम जाना पसंद नहीं है तो आप यह आसान एक्सरसाइज करके भी आरोग्य जीवन व्यतीत कर सकते हैं। आपने देखा होगा कि सुबह-सवेरे पार्क या सड़कों पर लोग वॉकिंग करते हैं। माना जाता है कि वॉकिंग सबसे सरल और बेहतरीन एक्सरसाइज है जो ना ही सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। वाकिंग करने से ना ही सिर्फ हमारा मूड खुशमिजाज हो जाता है बल्कि यह हमारे स्वास्थ्य पर भी सही प्रभाव डालता है।

सुबह की सैर के फायदे 

1. ओस्टियोपोरोसिस और गठिया रोग के लिए असरदार

एक शोध के अनुसार यह पता चला है कि मॉर्निंग वॉक करने से ओस्टियोपोरोसिस और गठिया जैसी समस्याएं दूर हो जाती हैं। अगर कोई गठिया की समस्या से ग्रस्त है तो उससे एक हफ्ते में कम से कम 150 मिनट तक आसान शारीरिक गतिविधि करना चाहिए। इस शारीरिक गतिविधियों में वॉकिंग, साइकिलिंग और स्विमिंग करना फायदेमंद माना जाता है।

2. डिप्रेशन मुक्त होता है इंसान

आजकल के जमाने में डिप्रेशन एक गंभीर समस्या बन गई है जो ना जाने कितने लोगों की जान ले लेती है। डिप्रेशन जैसी समस्या से राहत पाने के लिए इंसान को रोजाना मॉर्निंग वॉक करना चाहिए। क्योंकि इससे मानसिक स्थिति मजबूत होती है। एक शोध के अनुसार यह पता चला था कि जो डिप्रेशन के मरीज 20 से 40 मिनट के लिए मॉर्निंग वॉक करते हैं उनकी स्थिति में सुधार आता है।


3. डायबिटीज को करता है कंट्रोल

आम बीमारियों में मधुमेह की समस्या भी शामिल है। अव्यवस्थित जीवनशैली की वजह से कई लोग मधुमेह के शिकार हो जाते हैं। रोजाना मॉर्निंग वॉक करने से 20 से 30% तक डायबिटीज का रिस्क कम हो जाता है। इसीलिए डायबिटीज के मरीजों को डॉक्टर सुबह-सवेरे पैदल चलने की हिदायत देते हैं।

4. हृदय रोग के खिलाफ असरदार

शोध के अनुसार यह पता चला है कि मॉर्निंग वॉक करने से ह्रदय स्वस्थ बना रहता है। नियमित रूप से मॉर्निंग वॉक करने से कई हृदय रोग के रिस्क में कमी आ जाती है। हृदय के मरीजों के लिए मॉर्निंग वॉक करना बहुत लाभदायक होता है।

5. कैंसर के रिस्क को करता है कम
कई वैज्ञानिक शोधों के अनुसार यह पता चला है कि मॉर्निंग वॉक कैंसर के रिस्क को भी कम करने में सक्षम है। सप्ताह में करीब 3 घंटे का मॉर्निंग वॉक स्तन कैंसर के रिस्क को कम करता है वहीं 6 घंटे का वाॅक कोलन कैंसर के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है। रोजाना मॉर्निंग वॉक करने से महिलाओं से संबंधित कैंसर का रिस्क भी कम होता है।

6. दिमागी कार्यक्षमता में बढ़ोतरी लाए

रोजाना नियमित रूप से मॉर्निंग वॉक करने से मानसिक स्थिति मजबूत होती है साथ में दिमागी कार्यक्षमता में भी बढ़ोतरी होती है। इतना ही नहीं रोजाना मॉर्निंग वॉक करने से कई मानसिक समस्याओं से भी राहत मिलती है। जो इंसान डिमेंशिया का शिकार है उसके लिए मॉर्निंग वॉक करना बेहद फायदेमंद माना जाता है।

7. वेट लॉस के लिए मददगार

आम बीमारियों में मोटापा भी एक गंभीर समस्या है जो खराब जीवनशैली और गलत खान-पान के वजह से होता है। वजन कम करने के लिए एक्सरसाइज करना बहुत ही जरूरी है। जो इंसान जिम जाना या हैवी एक्सरसाइज करना पसंद नहीं करता है वह रोजाना नियमित रूप से मॉर्निंग वॉक जरूर करे। सुबह की सैर वजन घटाने में काफी मददगार साबित होती है। शोध के अनुसार यह पता चला है कि मॉर्निंग वॉक करने से पेट कम होता है और मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

8. इम्यूनिटी बढ़ाने में करता है मदद

किसी भी बीमारी से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता दृढू होनी चाहिए। अगर किसी इंसान के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है तो वह कई बीमारियों का शिकार हो सकता है। वैज्ञानिक शोध में यह पाया गया है कि रोजाना 30 मिनट मॉर्निंग वॉक करने से शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है जिसके वजह से प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है।

9. त्वचा को बनाता है चमकदार

संतुलित आहार के साथ त्वचा को चमकदार बनाने के लिए शरीर के अंदर मौजूद फ्री रेडिकल्स को बाहर निकालना बेहद जरूरी होता है। रोजाना मॉर्निंग वॉक करने से शरीर के अंदर ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है जिसकी वजह से त्वचा की कोशिकाएं भी सुरक्षित रहती हैं। मॉर्निंग वॉक करने से एंटी-एजिंग की समस्या भी दूर होती है साथ में त्वचा स्वस्थ बनती है।

10. मॉर्निंग वॉक से बाल रहते हैं स्वस्थ

यह कहा जाता है कि विटामिन डी की कमी होने की वजह से महिलाओं में अक्सर हेयर लॉस की समस्या देखी जाती है। सुबह के समय सूर्य की किरणों में विटामिन डी अवशोषित होता है जो हमारे त्वचा में जाकर शरीर के अंदर विटामिन डी की पूर्ति करता। विटामिन डी की मदद से हमारे बाल मजबूत होते हैं और स्वस्थ रहते हैं।