Haryana News

CUET UG 2024: रजिस्ट्रेशन करने की है आज आखिरी तारीख, जानें कैसे भरें एप्लिकेशन फॉर्म

 | 
CUET UG 2024: रजिस्ट्रेशन करने की है आज आखिरी तारीख, जानें कैसे भरें एप्लिकेशन फॉर्म

CUET UG 2024 Registration: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट अंडरग्रेजुएट 2024 (CUET-UG 2024) के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस कल, 31 मार्च, 2024 को बंद कर देगी. जिन उम्मीदवारों ने अभी तक अंडरग्रेजुएट कोर्स में एडमिशन के लिए होने वाले एंट्रेंस टेस्ट के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है, वे कल तक समय रहते अपना रजिस्ट्रेशन करा लें. उम्मीदवार कल रात 9:50 बजे तक अपने एप्लिकेशन फॉर्म जमा कर पाएंगे.

दरअसल, एप्लिकेशन फॉर्म जमा करने की पिछली आखिरी तारीख 26 मार्च थी. लेकिन यूजीसी के अध्यक्ष ममीडाला जगदेश कुमार ने उम्मीदवारों और अन्य हितधारकों से प्राप्त अनुरोध के आधार पर रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया की आखिरी तारीख को बढ़ा दिया था.

CUET UG 2024 Registration: जानें कैसे करें आवेदन
स्टेप 1 - नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की आधिकारिक वेबसाइट exams.nta.ac.in/CUET-UG/ पर जाएं: 
स्टेप 2 - इसके बाद CUET टैब पर क्लिक करें.
स्टेप 3 - अब आप यहां रजिस्ट्रेशन लिंक का चयन करें.
स्टेप 4 - इसके बाद आप आवश्यक जानकारी प्रदान करके एक अकाउंट बनाएं और लॉगिन करके एप्लिकेशन फॉर्म भरें.
स्टेप 5 - अब आप अपना स्कैन किया हुआ पासपोर्ट साइज का फोटो, सिग्नेचर और जरूरी डॉक्यूमेंट्स अपलोड करें. 
स्टेप 6 - अंत में आप आवेदन शुल्क का भुगतान कर फॉर्म को सबमिट करें.
स्टेप 7 - आप एप्लिकेशन फॉर्म जमा करने के बाद उसका एक प्रिंट निकालकर अपने पास रख लें.

साल 2022 में लॉन्च किया गया, कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (अंडरग्रेजुएट), या CUET (UG), किसी भी केंद्रीय विश्वविद्यालय (Central University) या अन्य भाग लेने वाले संस्थानों में एडमिशन सुरक्षित करने के इच्छुक छात्रों के लिए एक एकीकृत अवसर प्रदान करता है, जिसमें राज्य विश्वविद्यालय, डीम्ड विश्वविद्यालय और देश भर में निजी विश्वविद्यालय शामिल होते हैं.

अंडरग्रेजुएट कोर्स में नामांकन के लिए परीक्षा 13 भाषाओं - अंग्रेजी, हिंदी, असमिया, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मलयालम, मराठी, उड़िया, पंजाबी, तमिल, तेलुगु और उर्दू में 380 शहरों में आयोजित की जाएगी, जिसमें विदेश के 26 शहर भी शामिल हैं.

पिछले संस्करणों के विपरीत, जहां उम्मीदवार अधिकतम 10 विषयों का चयन कर सकते थे, अब छात्रों को अधिकतम छह विषयों का चयन करने की अनुमति है.