Haryana News

उत्तराखंड लोकसभा चुनाव में छोटे दल-निर्दलीयों के बड़े चुनावी वादे, पांच सीट में 37 के साथ भी मुकाबला

 | 
Uttarakhand Lok Sabha election news in Hindi,  Uttarakhand news in Hindi,

उत्तराखंड लोकसभा चुनाव 2024 में गढ़वाल लोकसभा सीट में सोनू कुमार का उत्साह देखते ही बनता है। निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे नवीं पास सोनू संसाधनों के लिहाज से भले ही बाकी प्रत्याशियों से काफी छोटे हैं, लेकिन उनके मुद्दे काफी बड़े हैं।

बकौल सोनू, उनकी लड़ाई बेरोजगार नौजवानों को रोजगार दिलाने के लिए है, जीतने पर महंगाई को भी कम करेंगे। दूसरी तरफ, अल्मोड़ा में पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया, डेमोक्रेटिक के प्रत्याशी डॉ. प्रमोद कुमार का मुद्दा राष्ट्रीय चिंता से जुड़ा है। उनका कहना हैकि जीतने पर वह लोकतंत्र को बचाएंगे।

न केवल सोनू और प्रमोद, बल्कि लोकसभा चुनाव के सत्ता संग्राम में खम ठोक रहे 37 विभिन्न छोटे दलों के और निर्दलीय प्रत्याशी भी अपने मुद्दों से ध्यान खींच रहे हैं। इन दलों में आधे से ज्यादा दल और प्रत्याशी ऐसे हैं जिनका लोग नाम भी नहीं जानते हैं, लेकिन इनके दावे और मुद्दे बड़े-बड़े हैं।

छोटे दलों के बड़े मुद्दे
कर्मचारियों को पुरानी पेंशन का लाभ, संविदा के बजाए स्थायी नौकरी
राज्य से पलायन को रोका जाएगा और स्थायी स्तर पर रोजगार के अवसर देंगे
गढ़वाल-कुमाउनी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में लाया जाएगा
राष्ट्रीय स्तर पर सभी किसानों के अब तक संपूर्ण कर्ज माफ किया जाएगा
अग्निवीर योजना को बंद कर सेना में स्थायी भर्ती की व्यवस्था लागू हो
पर्वतीय राज्यों में छोटे जिले, तहसीले और छोटे विकासखंड बनाए जाएंगे
पूरे देश और प्रदेश में सस्ती हो शिक्षा और स्वास्थ्य की सभी सुविधाएं दी जाएंगी
महिलाओं को 50 प्रतिशत भागीदारी और प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण
अंकिता भंडारी हत्याकांड की उच्च स्तरीय जांच और कार्रवाई
सभी गांवों में सड़क, बिजली और शुद्ध पेयजल की सप्लाई मुहैया होगी


हरिद्वार
निर्दलीय उमेश कुमार, विजय कुमार, पवन कश्यप, रतन सिंह इंजीनियर, आशीष ध्यानी, अवनीश कुमार, अकरम हुसैन, भारतीय राष्ट्रीय एकता पाटी सुरेश पाल। पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया डेमोक्रेटिक ललित कुमार। उत्तराखंड समानता पार्टी बलवीर सिंह भंडारी।

टिहरी
निर्दलीय बॉबी पंवार, सुदेश कुमार, सरदार खान पप्पू, विपिन कुमार अग्रवाल, प्रेमदत्त सेमवाल। पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया डेमोक्रेटिक रामपाल सिंह। भारतीय राष्ट्रीय एकता पार्टी बृजभूषण कर्णवाल। राष्ट्रीय उत्तराखंड पार्टीनवनीत सिंह गुसाई।

गढ़वाल
निर्दलीय सोनू कुमार, मुकेश प्रकाश, दीपेंद्र सिंह नेगी। पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया, डेमोक्रेटिक सुरेशी देवी। ब्ाहुजन मुक्ति पार्टी श्यामलाल। उत्तराखंड समानता पाटी विनोद कुमार। सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया रेशमा पंवार। सैनिक समाज पार्टी मुकेश पंत।


अखिल भारतीय परिवार पार्टी अर्जुन सिंह।

नैनीताल
निर्दलीय हितेश पाठक, रमेश कुमार मैक्स। भारतीय शक्ति चेतना पार्टी सुरेंद्र सिंह। भारत की लोक जिम्मेदार पार्टी जीवन चंद्र उप्रेती, पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया, डेमोक्रेटिक अमर सिंह सैनी, अखिल भारतीय परिवार पार्टी अखलेश कुमार।

अल्मोड़ा
निर्दलीय अर्जुन प्रसाद। उपपा- किरन आर्य। पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया, डेमोक्रेटिक डॉ. प्रमोद कुमार। बहुजन मुक्ति पार्टी ज्योति प्रकाश टम्टा

यूं कर रहे हैं प्रचार
बड़े दलों के समान संसाधन न होने की वजह से छोटे दलों के प्रत्याशी और निर्दलीय उम्मीदवारों के चुनाव प्रचार का तरीका भी बेहद सादा है। बामुश्किल पांच फीसदी प्रत्याशी ही अपना चुनाव कार्यालय खोल पाए हैं।

बाकी अपने घर या दुकान से ही प्रचार संभाले हुए हैं। टिहरी संसदीय सीट से चुनाव लड़ रहे सरदार खान पप्पू अपनी मोटर साइकिल से तीन साथियों के साथ अलग अलग क्षेत्रों में जाते हैं। वहां लोगों मिलकर उन्हें पंपलेट बांटते हैं।

गढ़वाल सीट से चुनाव लड़ रहे पूर्व वाणिज्य कर अधिकारी भी इसी प्रकार लोगों से व्यक्तिगत रूप से मुलाकात कर अपनी बात रखते हैं। कर्णप्रयाग में लगासू के रहने वाले डॉ. मुकेश पंत सैनिक समाज पार्टी से चुनाव लड़ रहे हैं।