Haryana News

दिल्ली एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान परमाणु बम बोलना पड़ा महंगा, गुजरात के 2 कारोबारी गिरफ्तार

 | 
दिल्ली एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान परमाणु बम बोलना पड़ा महंगा, गुजरात के 2 कारोबारी गिरफ्तार
दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे (आईजीआई एयरपोर्ट) पर दो यात्रियों द्वारा सुरक्षा कर्मियों को कथित तौर पर परमाणु बम की धमकी देने का मामला सामने आया है। इसके बाद सुरक्षा कर्मियों ने दोनों युवकों को पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया। गिरफ्तार किए गए दोनों यात्रियों की पहचान जिग्नेश मालन और कश्यप कुमार लालानी के रूप में हुई है। यह घटना 5 अप्रैल की है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।


दिल्ली पुलिस की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, आईजीआई एयरपोर्ट पर तलाशी के दौरान सुरक्षा कर्मचारियों को परमाणु बम की धमकी देने के आरोप में दो यात्रियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों यात्रियों के खिलाफ आईजीआई एयरपोर्ट थाने में एफआईआर दर्ज की गई है।

दरअसल, अकासा एयरलाइंस के सिक्योरिटी सुपरवाइजर राहुल शर्मा ने 5 अप्रैल 2024 को आईजीआई एयरपोर्ट  थाने में अकासा एयर फ्लाइट QP-1334 में यात्रा कर रहे दो यात्रियों  के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थी। सुरक्षा लैंडिंग प्रक्रिया जांच (एसएलपीसी) के दौरान जिग्नेश मालन और कश्यप कुमार लालानी ने सुरक्षा जांच पर नाराजगी जताई थी। दोनों ने ही बार-बार जांच करने पर सवाल उठाया था। जांच में लगे कर्मचारियोंं द्वारा सुरक्षा प्रोटोकॉल का हवाला देने के बावजूद दोनों यात्री भड़क गए और एक ने कथित तौर पर कहा कि वे परमाणु बम ले जा रहे थे।


कथित सुरक्षा खतरे को मद्देनजर रखते हुए सभी यात्रियों और विमान की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दोनों यात्रियों को विमान से उतारने का निर्णय लिया गया। शिकायत और उसके बाद की जांच के आधार पर 5 अप्रैल 2024 को इनके खिलाफ आईपीसी की धारा 182/505 (1) (बी) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। उनकी गिरफ्तारी के बाद दोनों यात्रियों को जमानत पर रिहा कर दिया गया और मामले की जांच जारी है।

दिल्ली पुलिस की आगे की जांच में पता चला कि दोनों यात्री कश्यप कुमार लालानी और जिग्नेश मालानी गुजरात के  राजकोट में कंंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री में बिजनेस कॉन्ट्रैक्टर है। वे दोनों कारोबार के सिलसिले में दिल्ली के द्वारका आए थे।