Haryana News

घर-घर पहुंचने लगे बिजली निगम कर्मचारी, ले रहे एक-एक जानकारी; जानें डिटेल

 | 
v

Electricity News: बिजली निगम के गूगल एप पर अब बिजली उपभोक्ताओं का हर रिकॉर्ड दर्ज होगा। उपभोक्ता हर महीने कितनी बिजली का इस्तेमाल कर रहा है और कितनी उसे जरूरत है। उपभोक्ता का मीटर कहां लगा है और वह बाईपास तो नहीं कर रहा है। सभी रिकॉर्ड निगम के एप पर दर्ज किए जाएंगे।

इसकी शुरुआत निगम ने शहरी क्षेत्र से कर दी है। शहरी क्षेत्र में 2.27 लाख उपभोक्ताओं के घर पहुंचना निगम का लक्ष्य है। इसके लिए मीटर रीडर के साथ बिजली निगम का एक कर्मचारी जाएगा, जो रिकार्डों को गूगल एप पर दर्ज करेगा। रिकॉर्ड दर्ज होते ही इसकी जानकारी संबंधित क्षेत्र के अधिशासी अभियंताओं को हो जाएगी। इसके बाद अगर मीटर रीडर बिना घर जाए ही बिजली का बिल बनाते हैं तो अधिशासी अभियंताओं को इसकी जानकारी तत्काल हो जाएगी। इससे निगम को राजस्व का नुकसान नहीं होगा। निगम को यह शिकायत मिल रही कि मीटर रीडर बिना उपभोक्ताओं के घर जाए ही मनमाने तरीके से बिजली बिल जारी कर दे रहे हैं। सेटिंग के बल पर जिसकी खपत ज्यादा है, उसका कम बिल बना रहे हैं।

शुरुआती जांच में बिजली कर्मचारियों को काफी गड़बड़ियां मिल रही हैं। एक सप्ताह की जांच में 6367 उपभोक्ताओं के घरों की जांच हुई है। इसमें 61 चाइना मीटर इस्तेमाल में मिले हैं। जबकि 14 मीटर खराब मिले हैं। चाइना मीटर की जांच भी नहीं हो पा रही है। 

क्‍या बोले अफसर 
बिजली निगम के अधीक्षण अभियंता लोकेद्र बहादुर सिंह ने कहा कि उपभोक्ताओं के हर रिकॉर्ड बिजली निगम के गूगल एप पर दर्ज किए जा रहे हैं। शुरुआत में ही कई खामियां पकड़ में आई है, ठीक किया जा रहा है।