Haryana News

चारधाम पर टैक्सियों-कमर्शियल गाड़ियों के लिए ग्रीन कार्ड जरूरी, इसके बिना नहीं होगी यात्रा

 | 
चारधाम पर टैक्सियों-कमर्शियल गाड़ियों के लिए ग्रीन कार्ड जरूरी, इसके बिना नहीं होगी यात्रा

चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए एक बहुत बड़ा अपडेट सामने आया है।  राजस्थान, एमपी, पंजाब, दिल्ली-एनसीआर आदि राज्यों से चारधाम यात्रा पर टैक्सियों और कमर्शियल गाड़ियों से जाने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए जरूरी सूचना है।


टैक्सियों व कमर्शियल गाड़ियों से चारधाम यात्रा पर जाने से पहले यह नियम जरूर जान लें वर्ना यात्रा के दौरान तीर्थ यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। दूसरी राज्यों से उत्तराखंड चारधाम यात्रा पर टैक्सियों और कमर्शियल गाड़ियों के लिए ग्रीन कार्ड बनाना अनिवार्य है।

ऐसा नहीं करने पर टैक्सियों को चारधाम यात्रा पर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। टैक्सियों व कमर्शियल गाड़ियों के लिए देहरादून आरटीओ में चारधाम यात्रा के लिए ग्रीन कार्ड बनने शुरू हो गए हैं। यात्रा के लिए ग्रीन कार्ड होना जरूरी है।

यह भी पढ़ें:केदारनाथ-गंगोत्री उत्तराखंड चारधाम यात्रा पर अपडेट, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की 8 अप्रैल 2024 है डेट

इस बार चारधाम यात्रा 10 मई से शुरू होनी है। अब महज एक महीने का समय बचा हुआ है। ऐसे में परिवहन विभाग ने तैयारियां तेज कर दी हैं। देहरादून आरटीओ में ग्रीन कार्ड बनने शुरू हो गए हैं। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है।


टैक्सियों व कमर्शियल गाड़ियों के लिए दस्तावेज जरूरी  
ग्रीन कार्ड बनाने के लिए गाड़ियों के साथ ही ड्राइवर के सभी दस्तावेज वैद्य होने जरूरी हैं। एआरटीओ (प्रवर्तन) राजेंद्र विराटिया ने बताया कि ग्रीन कार्ड बनाने के लिए गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, फिटनेस, प्रदूषण प्रमाण पत्र वैद्य होने के साथ ही टैक्स भी जमा होना चाहिए। इसके साथ ही ड्राइवर का लाइसेंस हिल इंडोर्स होना चाहिए, यानि ड्राइवर को पहाड़ी सड़कों पर वाहन चलाने का अनुभव होना चाहिए। 

ग्रीन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन 
चारधाम यात्रा पर जाने से पहले ग्रीन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इसके लिए बाद आरटीओ दफ्तर या आशारोड़ी में वाहन का भौतिक निरीक्षण किया जाएगा। गाड़ी के पूरी तरह फिट होने के बाद ग्रीन कार्ड जारी किया जा रहा है। वहीं, यात्रा के लिए लगातार एडवांस बुकिंगें भी आ रही हैं, हालांकि, अभी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन बंद होने के कारण ट्रेवल एजेंसी संचालक बुकिंग कंफर्म नहीं कर पा रहे हैं।