Haryana News

बालासाहेब की पहली पसंद थे नितिन गडकरी, नामकरण भी किया; एकनाथ शिंदे ने सुनाया किस्सा

 | 
बालासाहेब की पहली पसंद थे नितिन गडकरी, नामकरण भी किया; एकनाथ शिंदे ने सुनाया किस्सा
लोकसभा चुनाव 2024 के लिए नागपुर लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी नितिन गडकरी के चुनाव प्रचार के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने भी मोर्चा संभाला हुआ है। एक रैली को संबोधित करते हुए शिंदे ने गडकरी की तारीफ करते हुए कहा कि 90 के दशक में गडकरी ही थे, जो शिवसेना संस्थापक बालासाहेब ठाकरे की पहली पसंद थे। बालासाहेब ने ही उन्हें लोकप्रिय नाम रोडकरी दिया था। यह तबकी बात है जब 90 के दशक में शिवसेना-बीजेपी गठबंधन पहली बार महाराष्ट्र की सत्ता में आया था, तब गडकरी पीडब्ल्यूडी मंत्री थे।


एकनाथ शिंदे ने नितिन गडकरी के एक बार फिर नागपुर लोकसभा सीट में बंपर जीत का दावा किया और कहा, “मैं आपको बताना चाहता हूं कि हमारे बालासाहेब ठाकरे के लिए तब सभी मंत्रियों में से गडकरी सबसे पसंदीदा थे। गडकरी के काम के कारण बालासाहेब ने उन्हें 'रोडकरी' नाम दिया था। यह उस वक्त की बात है जब उन्होंने मुंबई में फ्लाईओवर बनाए। 

रविवार को नितिन गडकरी की चुनावी प्रचार यात्रा दक्षिण-पश्चिम नागपुर विधानसभा से गुजरी, इसका प्रतिनिधित्व डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने किया। इससे पहले दिन में, शिंदे ने शिवसेना पदाधिकारियों से मुलाकात की और अलग-अलग कार्यक्रमों में डॉक्टरों और उद्यमियों के समूहों को संबोधित किया। 

उद्धव पर निशाना साधा
डॉक्टरों से बातचीत के दौरान शिंदे ने पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे का नाम लिए बिना उन पर कटाक्ष किया। कहा, “मैं डॉक्टर नहीं हूं लेकिन पिछले कुछ वर्षों में मैंने कई बड़े ऑपरेशन किए हैं। मैंने कई लोगों की गर्दन से बेल्ट (सपोर्ट बेल्ट) निकाली है। गौरतलब है कि सीएम रहते हुए ठाकरे की सर्जरी हुई थी और तब उन्हें गर्दन पर सपोर्ट पहने देखा गया था। 


कृपाल तुमाने की पैरवीं की
सीएम शिंदे ने नागपुर यात्रा में पूर्व शिव सेना सांसद कृपाल तुमाने को लेकर भी बयान दिया। शिंदे ने सेना पार्टी कार्यकर्ताओं की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, "मैं तब तक आराम नहीं करूंगा जब तक तुमाने को लोकसभा सांसद से बड़ी भूमिका नहीं दी जाती।" बता दें कि रामटेक लोकसभा क्षेत्र से उनका टिकट काट दिया गया है। तुमाने का टिकट कटने के बाद उनके समर्थकों में काफी नाराजगी है।