Haryana News

गूगल ने कर्मचारियों के बाद अब रोबोट को नौकरी से निकाला, ऑफिस के कैफेटेरिया में करता था साफ-सफाई

 | 
गूगल ने कर्मचारियों के बाद अब रोबोट को नौकरी से निकाला, ऑफिस के कैफेटेरिया में करता था साफ-सफाई

कर्मचारियों की छंटनी करने बाद अब गूगल रोबोट्स को भी नौकरी से निकालने लगा है। जानकारी के मुताबिक कंपनी ने उस रोबोट को ड्यूटी से हटा दिया है जो गूगल ऑफिस के कैफेटेरिया की साफ-सफाई करता था। बताया जाता है कि यह फैसला इसलिए लिया गया, क्योंकि इन रोबोट्स का खर्च उठाना कंपनी के लिए मुश्किल हो रहा था। गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट ने अपने एक्सपेरिमेंट डिपार्टमेंटल, एवरीडे रोबोट्स पर ताला लगा दिया है। यह डिपार्टमेंट उन रोबोट्स को ट्रेनिंग देने और उन्हें डेवलप करने का काम करता था। 

प्रायोगिक प्रोजेक्ट था
रिपोर्ट्स के मुताबिक एवरीडे रोबोट्स एक प्रायोगिक रोबोटिक्स प्रोजेक्ट था, जिसकी टीम में 200 से ज्यादा लोग थे। यह लोग विभिन्न रोबोटिक्स प्रोजेक्ट्स पर काम करते थे। इनमें 100 से ज्यादा एक हाथ वाले रोबोट्स थे, जो पहिए पर चलते थे। इन रोबोट्स को कैफेटेरिया की टेबल्स साफ करने, ट्रैश और रिसाइक्लिंग, दरवाजे खोलने जैसे काम में लगाया गया था। इतना ही नहीं, पैंडेमिक के दौरान इन रोबोट्स का इस्तेमाल कॉन्फ्रेंस रूम्स की सफाई के लिए भी किया जाता था। गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में गूगल ने करीब 12 हजार कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था। सुंदर पिचाई ने ऐलान किया था कि इस फैसले से प्रभावित कर्मचारियों को नोटिफिकेशन पीरियड के दौरान कम से कम 60 दिनों तक पैसे दिए जाएंगे। 

रख-रखाव था खर्चीला
वैसे तो यह रोबोट्स काफी काम के थे, लेकिन इनके रख-रखाव में काफी खर्च हो रहा था। रोबोटिक्स एक्सपर्ट्स के मुताबिक इनके मेंटेनेंस में दसियों हजार डॉलर का खर्च था, जिसे अल्फाबेट कंपनी बजट में कटौती के चलते मैनेज नहीं कर पा रही थी। इसके अलावा एवरीडे रोबोट्स प्रॉफिटेबल भी नहीं थे, इसलिए इन्हें हटा दिया गया। हालांकि इस टीम की कुछ टेक्नोलॉजी और हिस्सों को गूगल रिसर्च के रोबोटिक्स एफर्ट्स में इस्तेमाल किया जाएगा।