Haryana News

PPP Haryana:अब होगा परिवार पहचान पत्र की हर समस्या का समाधान, हर जगह लगेगा कैंप

 | 
PPP Haryana:अब होगा परिवार पहचान पत्र  की हर समस्या का समाधान, हर जगह लगेगा कैंप
PPP Haryana: हरियाणा में परिवार पहचान पत्र (PPP) के डाटा वेरिफिकेशन के संबंध में मुख्यमंत्री मनोहर लाल गंभीर गतिविधियों में गहराई लाने के लिए सीएम मनोहर लाल ने सेकेंड शनिवार की छुट्टी को रद्द कर दिया है।

हाल ही में सरकार ने परिवार पहचान पत्र प्राधिकरण में कोआर्डिनेटर की नियुक्ति की है। हरियाणा सेकेंडरी एजुकेशन के डिप्टी डायरेक्टर ने जारी ऑर्डर के माध्यम से सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को इसके संबंध में निर्देश दिए हैं।

ऑर्डर में कहा गया है कि वेरिफिकेशन के इस कार्य की दैनिक रिपोर्ट को मुख्यालय भेजी जाए। हरियाणा सरकार ने इस फैसले को लेकर फैमिली आईडी में आ रही समस्याओं को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है।

हरियाणा में परिवार पहचान पत्र (PPP) के डाटा वेरिफिकेशन की समस्या के कारण कई लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। कई लाभार्थियों के पेंशन और राशन कार्ड से नाम कट गए हैं, जिसके बारे में विपक्षी नेताओं ने आलोचना की है।

कॉर्डिनेटर भी तैनात


हरियाणा सरकार ने परिवार पहचान प्राधिकरण (HPPA) को सक्रिय कर दिया है। इसके लिए एक कोऑर्डिनेटर नियुक्त किया गया है, जिसके माध्यम से सरकार फैमिली आईडी की कम्युनिटी आउटरीच जानेगी और इसकी मॉनिटरिंग भी करेगी।


सरकार ने रेवाड़ी के निवासी सतीश खोला को कोऑर्डिनेटर के पद की नियुक्ति करने के आदेश जारी किए हैं। इनकी नियुक्ति एक वर्ष के लिए हुई है और उन्हें सरकार द्वारा प्रति माह 1.25 लाख की सैलरी भी दी जाएगी। अब तक परिवार पहचान प्राधिकरण (PPP) परिवारों का लगभग 72 लाख का पंजीकरण हो चुका है। इनमें से 68 लाख के करीब परिवारों का डेटा सरकार द्वारा सत्यापित किया गया है।


कुल मिलाकर, सरकार के पास लगभग 2 करोड़ 83 लाख लोगों का डेटा उपलब्ध है। इस डेटा के अनुसार, राज्य में अनुसूचित जाति के परिवारों की संख्या 13 लाख 68 हजार 365 है। इसके अलावा, पिछड़ा वर्ग-ए के 11 लाख 23 हजार 352 परिवार हैं और उनकी जनसंख्या 47 लाख 93 हजार 312 है।