Haryana News

Haryana: हरियाणा में NCR से पुराने वाहनों हटाने का काम शुरू, शुरुआत में हटाए जाएंगे ये वाहन

 | 
Haryana: हरियाणा में NCR से पुराने वाहनों हटाने का काम शुरू, शुरुआत में हटाए जाएंगे ये वाहन
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि स्क्रैप नीति के तहत गुरुग्राम जिले से पुराने वाहनों को हटाने की शुरुआत की जाएगी। शुरुआत में पांच हजार ऑटो को हटाया जाएगा। साथ ही हरियाणा सरकार इलेक्टि्रक वाहनों को बढ़ावा दे रही है और बसों समेत अन्य सरकाररी वाहन खरीदे जा रहे हैं। एनसीआर में डीजल के 10 साल पुराने और पेट्रोल के 15 साल पुराने वाहन चलाने पर प्रतिबंध है।

केन्‍द्र सरकार पर्यावरण को लेकर गंभीर है. यही वजह है कि बजट में प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों को लेकर खास ऐलान किया है. इसके लिए राज्‍य ब्‍याज रहित लोन केन्‍द्र से ले सकते हैं. बजट में 50 हजार करोड़ का लोन राज्‍यों को देने का प्रावधान किया गया है. यह लोन राज्‍यों में ट्रांसपोर्ट व्‍यवस्‍था सुधारने और प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों को हटाने के लिए भी दिया जाएगा.

केन्‍द्र सरकार बढ़ते प्रदूषण को लेकर चिंतित है. प्रदूषण बढ़ाने में पुराने वाहन भी बड़ा कारण हैं. यही वजह है कि बजट में पुराने वाहनों को स्‍क्रैप पोलिसी के तहत हटाने की बात कही गयी है. समय सीमा पूरे कर चुके वाहनों में सरकारी वाहन और एंबुलेंस भी हैं. राज्‍य सरकारें ब्‍याज रहित लोन का इस्‍तेमाल पुराने वाहनों को हटाने में किया जा सकता है.

लोगों पर प्रभाव डालने के लिए बदला विजिलेंस का नाम
मनोहर लाल ने कहा कि विजिलेंस कई अलग-अलग विभागों में भी बनी हुई है। इसलिए भ्रष्टाचार रोकने के लिए लोगों पर विभाग के नाम पर भी प्रभाव पड़े, इसलिए राज्य सतर्कता ब्यूरो का नाम एंटी क्रप्शन ब्यूरो रखा है। इसके अलावा विभागों में बनी विजिलेंस कमेटियां अपना काम करती रहेंगी। विजिलेंस का मतलब निगरानी है, लेकिन एंटी क्रप्शन ब्यूरो भ्रष्टाचार के मामलों में सीधी कार्रवाई करेगा।