Haryana News

Haryana: राहुल गांधी के साथ नजर आई इस लड़की को हरियाणा पुलिस ने हथियारों सहित पकड़ा, लाखों हैं फॉलोवर्स, जानिए कौन है नैना कैनवाल

 | 
Haryana: राहुल गांधी के साथ नजर आई इस लड़की को हरियाणा पुलिस ने हथियारों सहित पकड़ा, लाखों हैं फॉलोवर्स, जानिए कौन है नैना कैनवाल

हरियाणा पुलिस ने रोहतक में राजस्थान पुलिस की महिला सब इंस्पेक्टर (SI) नैना कैनवाल को अवैध हथियार के मामले में पकड़ा है। इसके बाद से ही वह हरियाणा और राजस्थान में सुर्खियों में बनी हैं। ऐसे में आइये जानते हैं कौन हैं नैना कैनवाल और क्या हैं उन पर आरोप? नैना कैनवाल अंतरराष्ट्रीय कुश्ती खिलाड़ी हैं। वह हरियाणा केसरी सम्मान से सम्मानित भी हो चुकी हैं। नैना कैनवाल कुछ दिन पहले ही राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में भी शामिल हो चुकी हैं। राहुल गांधी के साथ उनकी एक तस्वीर भी सोशल मीडिया पर मौजूद है। फेसबुक पर पांच लाख से अधिक और इंस्टाग्राम पर ढाई लाख लोग नैना को फॉलो करते हैं। अब हरियाणा पुलिस ने उनके खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। नैना हरियाणा के पानीपत जिले की सुताना गांव की रहने वाली हैं। वहीं रोहतक में सनसिटी हाइट्स में वह किराये के प्लैट में रहती हैं। 

दिल्ली पुलिस ने मारा था छापा

दिल्ली पुलिस ने मारा था छापा
गुरुवार यानी दो मार्च को दिल्ली पुलिस ने नैना के फ्लैट में दबिश दी। दरअसल, दिल्ली पुलिस को अपहरण के मामले में वांछित बोहर निवासी सुमित नांदल की तलाश थी। पुलिस को सुमित की लोकेशन नैना के फ्लैट में मिली। इसके बाद टीम ने यहां दबिश दी। 

यह है आरोप 
सुमित नांदल के खिलाफ अपहरण और उगाही का मामला दर्ज है। पुलिस उसकी तलाश में गुरुवार को रोहतक पहुंची थी। पता चला कि सुमित नांदल लाढ़ोत रोड स्थित सनसिटी हाइट्स के एक फ्लैट में है लेकिन पुलिस की दबिश से कुछ समय पहले ही सुमित नांदल वहां से निकल गया था। दरवाजा खटखटाया तो नैना ने गेट खोला, जिसके दोनों हाथों में पिस्तौल थी। उन्होंने पुलिस को देखकर पिस्तौल खिड़की से नीचे फेंक दी, जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद उनके खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्जकर गिरफ्तार कर लिया था।

कौन हैं SI नैना कैनवाल

सुमित के खिलाफ 2021 में दर्ज हुआ था केस
पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक दिल्ली के उत्तम नगर निवासी पंकज कुमार ने जुलाई 2021 में मोहन गार्डन थाने में अपहरण कर 20 लाख की फिरौती और तीन लाख की वसूली का केस दर्ज कराया था। वह अपने दोस्त ऋषभ के साथ मोहन गार्डन रोड पर कार में बैठा था। कुछ युवक आए और अपहरण करके रोहतक ले गए। उनमें एक युवक खुद को बोहर निवासी सुमित नांदल बता रहा था। उसे बाबा मस्तनाथ की मूर्ति के नजदीक एक बड़े मकान में ले गए। उसका मुंह पानी में डुबोया। मारपीट करके दिल्ली ले जाकर तीन लाख रुपये वसूले। 17 लाख जल्द न देने पर धमकी दी और उसे सड़क किनारे छोड़ दिया था। तभी से पुलिस आरोपी सुमित की तलाश में जुटी है।

नैना पांच साल से रोहतक में कर रही थीं अभ्यास
एसआई नैना पिछले पांच साल से रोहतक में रहकर कुश्ती का अभ्यास कर रही थीं। इससे पूर्व वह जींद की एक नामी कुश्ती एकेडमी में अभ्यासरत थीं। पिछले कुछ माह से यह पहलवान बोहर के एक पहलवान की एकेडमी से जुड़ी हैं। अखाड़े के पहलवानों की मानें तो नैना कुश्ती की अच्छी खिलाड़ी रही हैं। उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर शानदार प्रदर्शन किया और कई पदक जीते। इन उपलब्धियों की वजह से जून 2022 में राजस्थान पुलिस में सब इंपेक्टर की नौकरी नैना को मिली। अखाड़े में व्यवहार भी मिलनसार रहा। वह अभ्यास पर पूरा ध्यान देने वाली और मेहनत करने वाली खिलाड़ी रही हैं। रोहतक के सर छोटू राम स्टेडियम के अखाड़े में करीब पांच साल अभ्यास किया।

कौन हैं SI नैना कैनवाल
 

डेढ़ साल से नैना के संपर्क में था सुमित
सुमित नांदल करीब डेढ़ साल से नैना के संपर्क में था। इतना ही नहीं वही फ्लैट में दोनों देसी पिस्तौल छोड़कर गया था। उसे यह नहीं पता था वह दिल्ली पुलिस का वांछित है। पानीपत के सुताना निवासी सब इंस्पेक्टर नैना कैनवाल ने बताया कि फ्लैट के दरवाजे पर अचानक पुलिस को देखकर वह घबरा गई। इस कारण उसने पिस्तौल खिड़की से नीचे फेंक दी। अब रोहतक पुलिस ने भी गांव बोहर निवासी सुमित नांदल का आपराधिक रिकॉर्ड खंगालने में जुट गई है। 
पहलवान नैना कैनवाल को राजस्थान सरकार ने खेल कोटे से पिछले साल सब इंस्पेक्टर की नौकरी दी थी। नैना के पिता रामकरण और मां बाला देवी सरपंच रह चुकी हैं। पिता पूर्व सरपंच रामकरण को भी पहलवानी का शौक रहा है। रामकरण सन 2005 में गांव के सरपंच बने और 2010 में मां बाला देवी सरपंच रही हैं। नैना ने पढ़ाई निडानी में की। 


नैना कैनवाल का राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय कुश्ती का सफर
 नैना ने जीते 13 राष्ट्रीय पदक 
2021 सीनियर नेशनल चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल, (आगरा, उत्तर प्रदेश)
2019 सीनियर नेशनल चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल (जालंधर, पंजाब)
2018 सीनियर नेशनल चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल (गोंडा, उत्तर प्रदेश) 
2019 अंडर-23 नेशनल चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल (शिरडी, महाराष्ट्र)
2018 अंडर-23 नेशनल चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल (चित्तौड़गढ़, राजस्थान)
2016 जूनियर नेशनल चैंपियनशिप में सिल्वर पदक  (गोंडा, यूपी)
2015 जूनियर नेशनल चैंपियनशिप में कांस्य पदक (रांची, झारखंड)
2014 जूनियर नेशनल चैंपियनशिप में कांस्य पदक  (झारखंड)
2019 आल इंडिया यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल (औरंगाबाद, महाराष्ट्र)
2018 आल इंडिया यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल (रोहतक, हरियाणा)
2017 आल इंडिया यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल (रोहतक, हरियाणा)
2017 आल इंडिया यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में कांस्य पदक (मैसूर, कर्नाटक)
2015 आल इंडिया यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल (कुरुक्षेत्र, हरियाणा)
2019 एशिया चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल (मंगोलिया)
2019 अंडर-23 वर्ल्ड चैंपियनशिप में हिस्सा लिया (हंगरी)
2019 अंडर-23 वर्ल्ड चैंपियनशिप में हिस्सा लिया (हंगरी)
2018 अंडर-23 वर्ल्ड चैंपियनशिप में हिस्सा लिया (रोमानिया)
2016 जूनियर एशियन चैंपियनशिप में हिस्सा लिया ( मंगोलिया)
2014 जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में हिस्सा लिया (यूरोप)