Haryana News

Haryana CET : सीईटी के ग्रुप 56 व ग्रुप 57 की मुख्य संयुक्त पात्रता परीक्षा नहीं होगी रद, आयोग बनाएगा रिजल्ट

 | 
Haryana CET : सीईटी के ग्रुप 56 व ग्रुप 57 की मुख्य संयुक्त पात्रता परीक्षा नहीं होगी रद, आयोग बनाएगा रिजल्ट

चंडीगढ़: संयुक्त पात्रता परीक्षा (सीईटी) मेन्स की परीक्षा को लेकर विवाद के बीच प्रदेश सरकार विपक्ष के किसी तरह के दबाव में आने के मूड में नहीं है। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग परिणाम तैयार करेगा। आयोग को पेपर सेट करने वाली कंपनी (एजेंसी) के एमडी के जवाब का भले ही इंतजार है, लेकिन उम्मीद की जा रही है कि सीईटी की जिन दो परीक्षाओं को लेकर विपक्ष हल्ला मचा रहा है, वह रद नहीं होने वाली है। सावधानीवश हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग यह जरूर सुनिश्चित करेगा कि भविष्य में इस तरह एक समान सवालों का परीक्षा में दोहराव न हो। इसके लिए पेपर सेट करने वाली कंपनी और उसके एग्जामिनरों की जवाबदेही जरूर तय की जाएगी।

https://onetimeregn.haryana.gov.in/eforms/login.aspx

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की ओर से कंपनी को काली सूची में डालने पर भी विचार किया जा रहा है। आयोग के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी ने बुधवार को कंपनी के एमडी को बाई-हैंड (आमने- सामने) नोटिस थमाकर पूछा था कि सीईटी के ग्रुप 56 की परीक्षा में आए 41 सवाल ग्रुप 57 की परीक्षा में कैसे रिपीट हो गए। हालांकि पेपर सेट करने वाली कंपनी की ओर से किसी भी परीक्षा के लिए चार प्रश्नपत्र सेट किए जाते हैं और सभी के सवाल अलग-अलग होते हैं, लेकिन सीईटी के ग्रुप 56 व ग्रुप 57 की परीक्षा में 41 सवाल रिपीट हो गए हैं, 

https://onetimeregn.haryana.gov.in/eforms/login.aspx

जिससेपूरे प्रदेश में हल्ला मचा हुआ है। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग का कहना है कि यह किसी को पता नहीं होता कि प्रश्नपत्र के किस सेट में कौन-कौन से सवाल हैं। फिर भी पेपर सेट करने वाली कंपनी से जवाब मांगा गया है। शनिवार तक जवाब मिलने की स्थिति में यदि आयोग संतुष्ट हुआ तो ठीक है वरना कंपनी को काली सूची में डाला जा सकता है। दूसरी तरफ पता चला है कि आयोग ने प्रदेश के एडवोकेट जनरल कार्यालय से लिखित में अभी कोई राय नहीं ली है। ऐसा कोई परिपत्र कर्मचारी चयन हालांकि मौखिक तौर पर जरूर कुछ सलाह मशविरा किया गया है। प्रश्नपत्र तैयार करने वाली कंपनी के जवाब का इंतजार, आयोग संतुष्ट नहीं हुआ तो काली में डलेगी कंपनी

https://onetimeregn.haryana.gov.in/eforms/login.aspx

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी कर्मचारी चयन आयोग से इस बारे में स्पष्टीकरण मांगा है। साथ ही आयोग के पूर्व चेयरमैन भारत भूषण भारती के साथ भी चर्चा की गई है। सूत्रों का कहना है कि सरकार और आयोग परीक्षा रद करने के विपक्ष के किसी दबाव में आने के मूड में नहीं है। ऐसे में पता चला है कि आयोग को कहा गया है कि वह सीईटी मेंस की परीक्षा का रिजल्ट तैयार करने की प्रक्रिया में तेजी के साथ आगे बढ़े।

अधिक जानकारी के लिए ज्वाइन करे व्हाटशप ग्रुप https://chat.whatsapp.com/GsMmfdjJ5JTHIwEfMBNL77