Haryana News

Haryana CET सीईटी परीक्षा में 41 सवाल दोहराए जाने पर HSSC चेयरमेन का आया बड़ा बयान, एजेंसी को आयोग करेगा ब्लैकलिस्ट

 | 
Haryana CET सीईटी परीक्षा में 41 सवाल दोहराए जाने पर HSSC चेयरमेन का आया बड़ा बयान, एजेंसी को आयोग करेगा ब्लैकलिस्ट

Haryana CET उधर आयोग सीईटी मेंस दोबारा कराने के मूड में नहीं है। हाईकोर्ट के फैसले का इंतजार है। आयोग का तर्क है कि हरियाणा लोक सेवा आयोग की एचसीएस एंड एलायड परीक्षा में भी 38 सवाल पिछले साल के दोहराए गए थे और आयोग ने परीक्षा को रद्द नहीं किया था।

हरियाणा में सीईटी मेंस की परीक्षा में 41 सवाल दोहराए जाने के मामले में पेपर बनाने वाली एजेंसी ने तीन दिन बाद भी हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को कोई जवाब नहीं दिया है.। इधर, आयोग ने एजेंसी के रवैये को देखते हुए उसे ब्लैकलिस्ट करने की अपनी तमाम प्रक्रिया पूरी कर ली है। इस संबंध में आयोग की ओर से सोमवार को आधिकारिक पत्र जारी किया जाएगा।

इसके अलावा, हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की ओर से परीक्षा रद्द करने को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया है। बताया जाता है कि आयोग का मानना है कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद परीक्षा का परिणाम जारी किया जाएगा। आयोग का मानना है कि दोबारा परीक्षा कराने में कई समस्याए हैं, इसलिए परीक्षा के परिणाम जारी करने पर हाईकोर्ट की रोक है। हाईकोर्ट के आदेशों के बाद ही आयोग परीक्षा को लेकर अगला कदम उठाएगा।

https://onetimeregn.haryana.gov.in/eforms/login.aspx

एचसीएस परीक्षा में दोहराए 38 सवालों का दिया जा रहा तर्क

इसके पीछे आयोग का तर्क है कि हरियाणा लोक सेवा आयोग की एचसीएस एंड एलायड परीक्षा में भी 38 सवाल पिछले साल के दोहराए गए थे और आयोग ने परीक्षा को रद्द नहीं किया था, बल्कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद उसका परिणाम जारी किया है। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग भी इसी दलील पर टीका हुआ है।

https://onetimeregn.haryana.gov.in/eforms/login.aspx

गौर हो कि 7 अगस्त को हुई कैटेगरी नंबर 56 की परीक्षा में एक दिन पहले ही हुई कैटेगरी नंबर 57 की परीक्षा के 41 सवालों को हूबहू दोहराया दिया गया था। अभ्यर्थियों ने परीक्षा को रद्द करने की मांग की थी। आयोग की ओर से दोनों परीक्षाओं की आंसर की सार्वजनिक की जा चुकी हैं और 12 अगस्त से 14 अगस्त तक आपत्तियां मांगी हैं।

https://onetimeregn.haryana.gov.in/eforms/login.aspx

अभी तक पेपर तैयार करने वाली एजेंसी की ओर से कोई जवाब नहीं आया है। परीक्षा को लेकर मांगी गई कानूनी राय भी अभी तक नहीं मिली है। इसलिए परीक्षा को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया है। -भोपाल सिंह खदरी, अध्यक्ष, एचएसएससी।

अधिक जानकारी के लिए ज्वाइन करे व्हाटशप ग्रुप https://chat.whatsapp.com/GsMmfdjJ5JTHIwEfMBNL77