Haryana News

Solar Water Pump : 75% सब्सिडी पर सोलर वाटर पंप के आवेदन हुए शुरू, फटाफट करे आवेदन

 | 
Solar Water Pump : 75% सब्सिडी पर सोलर वाटर पंप के आवेदन हुए शुरू, फटाफट करे आवेदन

नई दिल्‍ली. किसानों को अब अपने खेतों की सिंचाई के लिए महंगा डीजल नहीं जलाना होगा. प्रधानमंत्री किसान उर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान (PM-KUSUM) के तहत केंद्र और हरियाणा सरकार प्रदेश के किसानों को पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर सोलर वाटर पंप देगी. 75 फीसदी सब्सिडी (Solar Water Pump Subsidy) पर मिलने वाले इन सोलर पंपों के लिए आवेदन 20 दिसंबर से शुरू हो जाएंगे. किसानों को 3 एच. पी. से 10 एच.पी. क्षमता के सोलर वाटर पंप दिए जाएंगे. हरियाणा सरकार ने साल 2022 में तीसरी बार आवेदन निकाले हैं.

सरकार की ओर से जारी प्रेस बयान के मुताबिक इस बार प्रदेश में 5614 सोलर वाटर पंप किसानों को दिए जाएंगे. 20 दिसंबर को सुबह 11 बजे सरल हरियाणा पोर्टल (Saral Haryana Portal) पर आवेदन शुरू हो जाएंगे. ऑनलाइन आवेदन करने के बाद किसानों को देय राशि जमा करवाकर फीस वेलिडेट करानी होगी.फीस वेलिडेट होने के बाद ही आवेदन कंफर्म माना जाएगा.


ये किसान भर सकते हैं फॉर्म
इस योजना का लाभ वही किसान ले सकते हैं जिनके पास बिजली पंप का कनैक्शन न हो, किसान के पास कृषि भूमि का मालिकाना हक हो तथा किसान ने पहले सोलर पंप का कनैक्‍शन न ले रखा हो. जिन किसानों की भूमि डार्क जोन में आती है, वहां के ऐसे किसान को ही इस योजना का लाभ ले सकेंगे जो सुक्ष्म सिंचाई प्रणाली जैसे टपका सिंचाई प्रणाली या फव्वारा सिंचाई प्रणाली का प्रयोग करने का शपथपत्र देगा.

3 से 10 एचपी के मिलेंगे पंप
पीएम कुसुम योजना के तहत किसानों को 3 एचपी से लेकर 10 एचपी क्षमता के सोलर पंप दिए जाएंगे. 3 एचपी डीसी मोनोब्‍लॉक पंप लेने के लिए किसान को 45075 रुपये जमा कराने होंगे. 3 एचपी सबमर्सिबल नॉर्मल कंट्रोलर पंप के लिए 46658 रुपये किसान को देने होंगे. 7.5 एचपी डीसी मोनोब्‍लॉक पंप के लिए 91894 रुपये, 7.5 एचपी डीसी सबमर्सिबल नॉर्मल कंट्रोलर पंप के लिए 92007 और 10 एचपी डीसी मोनो ब्‍लॉक पंप के लिए 115507 रुपये किसान को जमा कराने होंगे.


इन डॉक्‍यूमेंट की होगी जरूरत
ऑनलाइन आवेदन करने के लिए किसान को कुछ कागजात देने होंगे. इनमें परिवार पहचान-पत्र, जमीन की फर्द, बैंक खाता और आधार कार्ड शामिल हैं. आवेदन केवल ऑनलाइन ही होंगे और कॉमन सर्विस सेंटर से ही फॉर्म भरे जाएंगे.