Haryana News

Panchayat Chunav: हरियाणा के इस गांव ने पेश की भाईचारे की मिशाल, सर्वसम्मति से चुन ली पूरी पंचायत

 | 
Panchayat Chunav: हरियाणा के इस गांव ने पेश की भाईचारे की मिशाल, सर्वसम्मति से चुन ली पूरी पंचायत

Panchayat Chunav:  पंचायत चुनाव के पहले चरण के नामांकन जहा पहले ही भरे जा चुके हैं वही आज से दूसरे चरण के नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। पंचायत चुनाव की तैयारियां जोरो शोरो से चल रही है। कई जगह तो सर्वसमति से सरपंच चुनने की बातें भी चल रही है। ऐसा ही एक मामला हरियाणा में जिला महेंद्रगढ़ के गांव खातौली अहीर से आया है। यहाँ ग्राम पंचायत सर्वसम्मति से चुन ली गई है। गांव की सरपंच सीट सामान्य महिला के लिए आरक्षित थी और ग्रामीणों ने सर्वसम्मति बनाकर मनोज देवी यादव को सरपंच चुन लिया। सभी 7 वार्डों के पंच भी निर्विरोध चुन लिए गए।

नामांकन वापसी की तिथि के बाद बीडीपीओ प्रदीप कुमार गांव पहुंचे तथा ग्रामीणों के भाईचारे एवं एकजुटता की मिशाल की प्रशंसा करते हुए ग्राम पंचायत को विकास कार्यों में विशेष सहयोग देने की घोषणा की।

गांव खातौली अहीर का सरपंच पद इस बार महिला के लिए आरक्षित किया गया था। जब नामांकन प्रक्रिया शुरू की गई थी, तब पहले से चुनाव की तैयारी कर रहे मंजू कुमार यादव ने अपनी भाभी मनोज पत्नी विक्रम यादव फौजी का नामांकन करवा दिया। इसके पश्चात ग्रामीणों में सर्वसम्मति बनाने के प्रयास तेज किए गए। अंतत: सरपंच पद के लिए किसी और ने नामांकन नहीं किया, लेकिन पेंच पंचों को लेकर फंस गया।

हालांकि वार्ड नंबर एक से चार तक के पंच सर्वसम्मति बनाकर चुन लिए गए, लेकिन तीन वार्डों पांच, छह और सात में सहमति नहीं बन पाई और किसी में दो तो किसी में तीन नामांकन दर्ज करा दिए गए। जब नामांकन की अंतिम तिथि 19 अक्टूबर गुजर गई, तब गांव के प्रबुद्ध ही नहीं, सभी ग्रामीणों ने सरपंच पद का मतदान टलने पर खुशी जाहिर की और पंचों को मिल-बैठाकर आम सहमति से पूरी पंचायत गठित करने का निर्णय लिया।

नामांकन वापसी के अंतिम दिन शुक्रवार को ग्रामीणों की बैठक बुलाई। बैठक में ग्रामीणों ने सभी पंच उम्मीदवारों को बुलाया, जिसमें अन्य प्रबुद्ध ग्रामीण भी पहुंचे। बैठक में पर्ची डालकर बिना मतदान के पंच चुनने पर आम सहमति बनी तथा पंच उम्मीदवारों ने भी इसे स्वीकार कर लिया।


वार्ड नंबर एक से वीरेंद्र, वार्ड नंबर दो से सुमन, तीन से नरेंद्र जांगिड़, चार से मधुबाला, वार्ड नंबर पांच से रणवीर, वार्ड नंबर छह से सुनील तथा वार्ड नंबर सात से पिंकी को निर्विरोध पंच बन गए। अब यह पंचायत प्रदेश सरकार की घोषणा के अनुसार 11 लाख रुपए की इनाम राशि की हकदार हो गई है।