Haryana News

उपचुनाव के लिए आदमपुर के मैदान में रोचक संयोग, कांग्रेस के खिलाफ मैदान में कांग्रेस के ही 3 पूर्व दिग्गज

 | 
उपचुनाव के लिए आदमपुर के मैदान में रोचक संयोग, कांग्रेस के खिलाफ मैदान में कांग्रेस के ही 3 पूर्व दिग्गज

Adampur Bypoll: आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का गृहराज्य हरियाणा है। ऐसे में पार्टी और जोर लगा रही है। पार्टी ने यहां से सतेंद्र सिंह को उम्मीदवार बनाया है।

उपचुनाव के लिए आदमपुर का मैदान तैयार है। इंडियन नेशनल लोकदल (INLD) ने भी उम्मीदवार का ऐलान कर दिया है। इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP), कांग्रेस और राज्य के नए खिलाड़ी आम आदमी पार्टी (AAP) भी चेहरे पेश कर चुकी है। खास बात है कि मैदान में उतरे चारों उम्मीदवारों के तार कांग्रेस से ही जुड़े हुए हैं। तीनों प्रत्याशी पहले कांग्रेस नेता रह चुके हैं। इस लिहाज मैदान में कांग्रेस के मुकाबले पूर्व कांग्रेसी ही खड़े हैं।


आप
आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का गृहराज्य हरियाणा है। ऐसे में पार्टी और जोर लगा रही है। पार्टी ने यहां से सतेंद्र सिंह को उम्मीदवार बनाया है। सिंह ने साल 2014 विधानसभा चुनाव कांग्रेस के टिकट पर आदमपुर सीट से ही लड़ा था। हालांकि, उन्हें हार का सामना करना पड़ा और बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए थे। हाल ही में वह आप का हिस्सा बने हैं।

भाजपा
आदमपुर सीट पर हमेशा बिश्नोई परिवार का दबदबा रहा है। इस बार भाजपा ने कुलदीप बिश्नोई के बेटे भव्य को मौका दिया है। खुद कुलदीप भी लगातार अपने बेटे को टिकट दिलाने के लिए कोशिशें करते नजर आ रहे थे। खास बात है कि उन्होंने हाल ही में कांग्रेस से अलग होकर भाजपा का दामन थामा है। वहीं, भव्य भी साल 2019 में हिसार सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था।


INLD
INLD ने गुरुवार को हरियाणा कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे कुरदराम नंबरदार को टिकट दिया है। वह कांग्रेस में करीब 4 दशकों तक रहे और टिकट नहीं मिलने के चलते पार्टी छोड़ दी थी। नंबरदार ने विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर मनामाने फैसले लेने के आरोप लगाए थे।

कांग्रेस ने जय प्रकाश पर भरोसा जताया
कांग्रेस ने राज्य के वरिष्ठ नेता जय प्रकाश को उम्मीदवार बनाया है। खबर है कि जेपी को टिकट देने को लेकर कांग्रेस हाईकमान को पार्टी के अंदर ही काफी विरोध का सामना करना पड़ा था। कैथल के दुब्बल गांव से आने वाले जेपी तीन बार हिसार लोकसभा सीट से सांसद रह चुके हैं। खास बात है कि वह हर बार अलग-अलग पार्टी के टिकट से सांसद बने।