Haryana News

भारतीय रेडक्रास समिति की ओर से पांच दिवसीय राज्य स्तरीय जूनियर रेडक्रास प्रशिक्षण शिविर कैंप का शुभारंभ

 | 
भारतीय रेडक्रास समिति की ओर से पांच दिवसीय राज्य स्तरीय जूनियर रेडक्रास प्रशिक्षण शिविर कैंप का शुभारंभ

भारतीय रैडक्रास समिति, हरियाणा राज्य शाखा, चण्डीगढ द्वारा राज्य स्तरीय जूनियर प्रशिक्षण शिविर, लड़कियों का दिनांक 22-12-2022 से 27-12-2022 तक श्री नंगली बेला आश्रम, भूपतवाला ) ऋषिकेश  रोड़, हरिद्वार मे किया जा रहा है । जिसमें हरियाणा के 16 जिलों भिवानी, चरखी दादरी, फतेहाबाद, फरीदाबाद, हिसार, जीन्द, करनाल, कुरूक्षेत्रा, कैथल, नारनौल, पचंकूला, पानीपत, रोहतक, रेवाडी, सोनीपत और यमुनानगर सेे 140 जूनियर्स व 31 काउंसलर्स भाग लें रहें है । आज के प्रातःकालीन सत्रा का आरम्भ योग से हुआ । जिसमें रिसोर्स पर्सन श्री सुबे सिंह व श्रीमती अमर रवीश ने प्रतिभागियों को योगा, प्राणायाम, कपालभाति, भस्त्रिाका आदि का महत्व बताते हुये अभ्यास करवाया । 

 

शिविर निदेशक, रामाशीष मण्डल ने प्रतिभागियों को रक्तदान के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हम रक्तदान करके किसी के आंसुओं को खुशी में बदलकर एक नया जीवन दे सकतें है जो हमारे जीवन की सच्ची सार्थकता है । रामाशीष मण्डल ने कहा कि हम सब लोंगों का नैतिक कर्तव्य बनता है कि हम निःस्वार्थ भाव से मानव जगत की भलाई के लिए रक्तदान करें ताकि हम लोगों द्वारा दिये गये रक्त से किसी का बहुमूल्य जीवन बचा सकें, क्योकि मानव रक्त का कोई विकल्प नहीं है सिर्फ इंसान ही दूसरे इंसान को रक्त दे सकता है । 

 

रिसोर्स पर्सन डॉ0 पंकज गौड़ ने प्रतिभागियों को बताया कि नशा नर्क का द्वार है । इससे शारीरिक मांसिक, सामाजिक सम्मान की हानि होती है । नशा व्यक्ति परिवार और समाज का नाश कर देता  है । जे0आर0सी0 स्वंय और परिवार को नशे से मुक्त करवाने की सभी उपाय करें । इस दौरान प्रतिभागियों को नशामुक्ति की शपथ दिलवाई । 

श्री अजय श्योराण, रिसोर्स पर्सन ने प्रतिभागियों को प्राथमिक सहायता में हड्डीयों की टूट पर बांध्ने वाली पटिट्यों के बारे मे बताया तथा सदमा, बेहोशी के बारें में जानकारी देतेे हुए कहा कि इन दोनों परिस्थितियों का सामना हमें पूर्ण दक्षता और सावधनी पूर्वक करना चाहिए, नही तो हमारी मामूली सी ना समझी प्रभावी व्यक्ति के लिए प्राण घातक साबित हो सकती है। रिसोर्स पर्सन ओम प्रकाश गॉध्ी ने प्रतिभागियों को टी0बी0 के बारे मे विस्तारपूर्वक बताया कि यह एक संक्रामक रोग है यह आमतौर पर फेफडो़ पर प्रभावित करता है । दोपहर बाद सभी प्रतिभायिगों को देवभूमि हरिद्वार के मुख्य र्ध्म स्थल का भ्रमण करके करवाया गया। 

इस अवसर पर विनीत गाबा, संयुक्त शिविर निदेशक, रिसोर्स पर्सन अजय श्योराण, श्रीमति स्वाति देवी, रामचन्द्व, विनोद कुमार, सोनिया, रबीता, मध्ुबाला, मोहिणी, सविता देवी,खुशबु, राजेश कपुर, सूरज मौर्य, विनय चौध्री आदि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित  थे ।