Haryana News

हरियाणा सरकार ने होमगार्ड जवानों का बढ़ाया प्रशिक्षण भत्ता, साथ ही मिलेंगी ये सुविधाएं

 | 
हरियाणा सरकार ने होमगार्ड जवानों का बढ़ाया प्रशिक्षण भत्ता, साथ ही मिलेंगी ये सुविधाएं

हरियाणा के 12 हजार होमगार्ड को अब 800 रुपये प्रशिक्षण भत्ता मिलेगा। जल्दी ईपीएफ भी जमा होने लगेगा। गृह विभाग से होते हुए दोनों फाइल मंजूरी के लिए वित्त विभाग में पहुंच चुकी है। गृह रक्षी एवं नागरिक सुरक्षा विभाग ने होमगार्ड की मृत्यु पर परिवार को 15 लाख रुपये की मदद की शुरुआत नूंह व कैथल से कर दी है। दो कर्मियों के आश्रितों को बीते महीने योजना का लाभ दिया है।

प्रदेश में अभी तक होमगार्ड को 300 रुपये प्रशिक्षण भत्ता मिलता था। प्रशिक्षण के दौरान प्रतिदिन के मानदेय की राशि कट जाती थी। वित्तीय नुकसान के कारण कर्मचारी प्रशिक्षण में हिस्सा लेने से मना कर देते थे।


इसे देखते हुए विभाग ने सरकार को प्रशिक्षण भत्ता 300 से बढ़ाकर 800 रुपये करने का प्रस्ताव भेजा था, जिसे गृह मंत्री और गृह सचिव की मंजूरी मिल गई है। इसके साथ ही 50-50 प्रतिशत (सरकार और होमगार्ड) के अनुपात में ईपीएफ जमा करने का प्रस्ताव भी वित्त विभाग में पहुंच गया है। भत्ता बढ़ाने में कोई पेच नहीं है, ईपीएफ के वित्तीय बोझ को लेकर उच्च अधिकारियों के बीच संवाद जारी है।

प्रस्ताव को जल्द मंजूरी मिलने की उम्मीद: देशराज

गृह रक्षी एवं नागरिक सुरक्षा विभाग के महानिदेशक देशराज ने बताया कि सरकार को होमगार्ड स्वयंसेवियों का प्रशिक्षण भत्ता और ईपीएफ कटौती का प्रस्ताव भेजा है। उम्मीद है कि जल्दी मंजूरी मिल जाएगी। अभी तक होमगार्ड की दुर्घटना में मृत्यु होने पर परिवार को कोई आर्थिक मदद नहीं मिलती थी। पुलिस की तर्ज पर निजी बैंक के जरिये करार कर यह लाभ देना शुरू कर दिया है। पारिवारिक सदस्य भी उसी बैंक में अपना खाता खुलवाते हैं तो उन्हें भी 11 लाख रुपये का बीमा कवर मिलेगा।


नई पेंशन योजना का विकल्प भी खुला

ईपीएफ के साथ ही होमगार्ड के लिए नई पेंशन योजना का भी विकल्प खुला है। ईपीएफ कटौती के साथ भी स्वयंसेवी नई पेंशन योजना अपना सकते हैं। विभाग पूरे प्रदेश में होमगार्ड के बीच इसे लेकर सहमति बनाने का प्रयास कर चुका है। 90 से 95 फीसदी कर्मियों ने हामी भरी है। उच्च अधिकारियों का विशेष जोर इस समय ईपीएफ सुविधा शुरू कराने पर है। इसके बाद नई पेंशन योजना में इन्हें शामिल करने की कोशिश शुरू होगी।