Haryana News

हरियाणा पंचायत चुनाव इन 5 बातो से होगा खास, इस बार हरियाणवी 2 दिन में 2 बार मतदान करेंगे; परिणाम के लिए लंबा इंतजार

 | 
हरियाणा पंचायत चुनाव इन 5 बातो से होगा खास, इस बार हरियाणवी 2 दिन में 2 बार मतदान करेंगे; परिणाम के लिए लंबा इंतजार

हरियाणा में हो रहे पंचायत चुनाव- 2022 इस बार कई मायनों में खास है। यह पहली बार है कि हरियाणवी 2 दिन में 2 बार मतदान करेंगे। इसकी वजह जिला परिषद, पंचायत समिति और पंच-सरपंच के मतदान की अलग-अलग तारीख है। वहीं पहली बार मतदाताओं को जिला परिषद और पंचायत समिति मेंबरों के परिणाम के लिए लंबा इंतजार करना होगा। ऐसी ही कुल 5 वजहें हैं, जिससे पंचायत चुनावों में लोग ज्यादा रुचि दिखा रहे हैं।

पंचायत चुनाव को खास बनाती 5 वजहें

​​​​​1. 48 घंटे बाद 2 बार मतदान : पंचायत चुनाव में इस बार एक मतदाता 48 घंटे बाद 2 बार मतदान करेंगे। पहले चरण में 30 अक्टूबर को जिला परिषद और पंचायत समिति का मेंबर चुनेंगे। फिर 2 नवंबर को ग्राम पंचायत में पंच और सरपंच चुनेंगे। दूसरे चरण में 9 नवंबर को जिला परिषद और पंचायत समिति का मेंबर चुनेंगे। फिर 12 नवंबर को पंच-सरपंच चुनेंगे। इससे बड़ा फायदा यह है कि लोगों को किसी तरह का असमंजस नहीं होगा। पहले एक ही दिन में 4-4 उम्मीदवार चुनने पड़ते थे।


2. पहली बार EVM से वोटिंग: पंचायत चुनाव में अब तक बैलेट पेपर से ही मतदान होता था। इस बार विधानसभा की तरह पहली बार ग्रामीण EVM से जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्य का चुनाव करेंगे। 20 जिलों में इन पदों पर EVM से चुनाव होगा। इससे पहले हुए पंचायत चुनाव में रेवाड़ी और पंचकूला जिले में पंचायत समितियों के चुनाव EVM से कराने का ट्रायल हो चुका है।

3.पहली बार 3 चरणों में चुनाव : हरियाणा के इतिहास में पहली बार पंचायत चुनाव 3 चरणों में कराए जा रहे हैं। इससे पहले जितने भी पंचायत चुनाव हुए वह एक ही चरण में कराए गए हैं। राज्य चुनाव आयोग ने इसके पीछे आदमपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव और पुलिस की कमी का हवाला दिया है। फिर भी पंचायत चुनाव के 3 चरण ने हरियाणा में ऐतिहासिक शुरूआत जरूर की है।

4. जिले के सभी ब्लॉकों में एक साथ मतदान : इस बार पंचायत चुनाव में जिले के सभी ब्लॉकों में एक साथ वोटिंग की जाएगी। इससे पहले ब्लॉक के दो चरणों में चुनाव कराए जाते थे। पहले चरण में आधे ब्लॉक और दूसरे चरण में बचे हुए आधे ब्लॉक को शामिल किया जाता था।

5. मतगणना के लिए इंतजार : इस बार पंचायत समिति और जिला परिषद मेंबर के परिणाम के लिए मतदाताओं को इंतजार करना होगा। 3 चरण के पंचायत चुनाव में आयोग जिलेवाइज इनके चुनाव ग्राम पंचायत के साथ करवा रहा है। ग्राम पंचायत यानी पंच-सरपंच का परिणाम तो मतदान के दिन ही आ जाएगा। हालांकि जिला परिषद और पंचायत समिति मेंबर की मतगणना एक साथ सबसे अंत में होगी। ऐसे में पंचायत चुनाव का तीसरा चरण खत्म होने का इंतजार करना होगा।

हरियाणा में पंचायत चुनाव के 2 चरणों का शेड्यूल...


चुनाव आयोग को मतदान घटने की भी चिंता
पंचायत चुनाव से जुड़े इन संयोगों के साथ चुनाव आयोग को चिंता भी है। यह चिंता मतदान का प्रतिशत घटने का है। 2 दिन में 2 बार वोटिंग में मतदाता कितनी दिलचस्पी दिखाता है, इस पर भी सबकी नजर है। पहले मतदाता EVM से मतदान करेंगे और फिर बैलेट पेपर की बारी आएगी।

आयोग के एक अफसर कहते हैं कि लोग ग्राम पंचायत यानी पंच-सरपंच के मतदान में ज्यादा रुचि लेते हैं। ऐसे में इसका असर पहले होने वाले जिला परिषद और पंचायत समितियों के चुनाव पर पड़ेगा।