Haryana News

हरियाणा के गृह मंत्री गब्बर का ऑन द स्पॉट फैसला, चौकी इन्चार्ज सहित सभी पुलिस कर्मचारी सस्पेंड, जानिये पूरी खबर

 | 
हरियाणा के गृह मंत्री गब्बर का ऑन द स्पॉट फैसला, चौकी इन्चार्ज सहित सभी पुलिस कर्मचारी सस्पेंड, जानिये पूरी खबर

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज अक्सर अपने अंदाज को लेकर सुर्खियों में बने रहते हैं. उनके काम करने का अलग ही तरीका है जिस वजह से लोग अपनी शिकायतें CM मनोहर लाल खट्टर को छोड़कर अनिल विज के पास लेकर पहुंते हैं. गृहमंत्री Rohtak में परिवेदना समिति की बैठक कर रहे थे. इसी दौरान Meeting में एक वकील ने पुलिस पर आरोप लगाए और कहा कि जब वह शिकायत दर्ज करवाने थाने में गया तो सारे पुलिसकर्मी चौकी में शराब के नशे में धुत थे. किसी ने भी उनका केस दर्ज नहीं किया.


अनिल विज ने किया ऑन द स्पॉट फैसला

यह मामला सुक्करा चौकी का है, जब इस बारे में Anil Vij को जानकारी मिली तो उन्होंने सीधा फैसला सुनाते हुए इस दौरान चौकी में मौजूद सभी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया.बता दे कि हनुमान कॉलोनी के रहने वाले वकील को जान से मारने की धमकियां मिल रही थी. उसके कुछ दिन बाद ही आरोपी वकील के घर के बाहर कुछ लोगों को लेकर पहुंच गया.

उन्होंने बताया कि जब 12 मार्च को वह इस मामले की शिकायत लेकर पुलिस चौकी में पहुंचे तो सारे पुलिसकर्मी नशे में धुत थे. 12 मार्च को शिकायत दर्ज करवाने गए वकील की पर्ची 13 मई को दर्ज की गई. 13 मई को वह कमेटी की Meeting में पहुंचे, उन्होंने आरोपी के साथ-साथ एक शिकायत पुलिस कर्मियों की भी दी.


स्टेट क्राइम ब्रांच को सौंपा गया मामला

उन्होंने पुलिसकर्मियों पर आरोप लगाए और कहा कि पुलिस वाले आम लोगों को छोड़कर गुंडों का साथ देते हैं. इस पूरे मामले को पहले तो अनिल विज चुपचाप सुनते रहे, फिर उन्होंने सवाल पूछने शुरू किए और कहा कि इस मामले की गहनता से जांच की जाए और मई महीने में चौकी में मौजूद सभी कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया जाए. साथ ही गृहमंत्री ने इस मामले को State Crime Branch को सौंप दिया. अनिल विज ने कहा कि कोई भी व्यक्ति पुलिस के पास शिकायत दर्ज करने पहुंचता है तो पुलिस को शिकायत दर्ज करनी है, क्योंकि यह उनका काम है. जांच के दौरान शिकायत ज्यादा गंभीर ना हो तो उसे कैंसिल भी किया जा सकता है.