Haryana News

Haryana: कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में खड़ा हुआ एक नया विवाद, कॉलेज के निदेशक पर लगा आरोप

 | 
Haryana: कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में खड़ा हुआ एक नया विवाद, कॉलेज के निदेशक पर लगा आरोप
छात्राओं के ओटी मास्टर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाने के बाद करनाल स्थित कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज का एक और विवाद सामने आया है। कॉलेज के निदेशक डॉ. जेसी दुरेजा पर एसआर (सीनियर रेजिडेंट) की भर्ती में पद का दुरुपयोग करने समेत मुख्यालय के निर्देशों की अवहेलना करने के आरोप लगे हैं।

कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. निवेश अग्रवाल ने छह महीने पहले सरकार को शिकायत भेजी थी कि निदेशक ने नियमों को दरकिनार कर जिस मेडिकल कॉलेज से उनका बेटा एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है, उससे विशेषज्ञ बुलाए। इस शिकायत पर सरकार ने दो आईएएस अधिकारियों की कमेटी बनाकर जांच बैठा दी है।


जांच कमेटी में शामिल आयुष विभाग के महानिदेशक डाॅ. साकेत कुमार और उत्तर हरियाणा बिजली वितरण के प्रबंध निदेशक राजनारायण कौशिक ने डाॅ. जेसी दुरेजा और डॉ. निवेश अग्रवाल को बुलाकर उनके बयान कलमबद्ध किए हैं। कमेटी को दो माह में सरकार को रिपोर्ट सौंपनी है। रिपोर्ट के बाद ही आगामी कार्रवाई होगी।

बाहरी विशेषज्ञ के तौर पर यूपी से शिक्षक बुलाने पर विवाद
एसआर की भर्ती में चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के निर्देशानुसार साक्षात्कार में कालेज निदेशक, चिकित्सा अधीक्षक, आंतरिक विशेषज्ञ और विषय से संबंधित बाहरी विशेषज्ञ शामिल होंगे। बाहरी विशेषज्ञ कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज से बाहर का होना चाहिए था।

इसके अलावा अन्य कोई दिशा-निर्देश नहीं दिए गए थे। आरोप है कि निदेशक ने बाहरी विशेषज्ञ के लिए उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर मेडिकल कालेज एवं अस्पताल को पत्र लिखा और 13 विषयों के विशेषज्ञों की मांग की। निदेशक ने अपनी ओर से पत्र में यह भी लिख दिया कि सरकार ने हरियाणा से बाहरी राज्य से विशेषज्ञ मांगे हैं।

जबकि सरकारी निर्देश में बाहरी राज्य का जिक्र नहीं था। डॉ. निवेश का आरोप है कि डा. जेसी दुरेजा का बेटा मुजफ्फरनगर मेडिकल कालेज में एमबीबीएस का विद्यार्थी है। बेटे के शिक्षकों को प्रभावित करने के लिए उसी मेडिकल कॉलेज से बाहरी विशेषज्ञ बुलाए गए। हालांकि मुजफ्फरनगर मेडिकल कालेज के पास दो विषयों के विशेषज्ञ नहीं थे, तो खानपुर मेडिकल कॉलेज और रोहतक पीजीआई से विशेषज्ञ बुलाए गए। डा. निवेश का आरोप है कि प्रदेश के सरकारी और निजी कॉलेजों को छोड़कर दूसरे प्रदेश के विशेषज्ञों को बुलाना गलत है। वो भी तब जब साक्षात्कार ऑनलाइन लेने थे।

जुलाई 2022 में 27 पदों पर निकाली थी भर्ती
कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में जुलाई 2022 को सीनियर रेजिडेंट के 22 पदों पर नियुक्ति निकाली गई थी। इनमें एनाटॉमी के एक, जनरल सर्जरी के तीन, बायोकेमिस्ट्री के दो, ईएनटी के एक, गायनी के चार, पल्मोनरी मेडिसन के एक, पैथोलॉजी के तीन, आर्थोपेडिक्स के एक, त्वचा रोग के एक, एनेस्थेलॉजी के तीन, जनरल मेडिसन के एक, पीडियाट्रिक के चार और रेडियोलॉजी के दो पदों पर भर्ती निकाली थी।