Haryana News

डेरा प्रमुख राम रहीम सुनारिया जेल से निकला बाहर; हनीप्रीत और अंगरक्षक प्रीतम सिंह के साथ यूपी के बागपत आश्रम के लिए रवाना; मिली 40 दिन की पैरोल

 | 
डेरा प्रमुख राम रहीम सुनारिया जेल से निकला बाहर; हनीप्रीत और अंगरक्षक प्रीतम सिंह  के साथ यूपी के बागपत आश्रम के लिए रवाना;  मिली 40 दिन की पैरोल
डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम सुनारिया जेल से आज सुबह यूपी के बागपत आश्रम के लिए रवाना हो गया। उसके साथ उसकी मुख्या शिष्या हनीप्रीत भी है। साथ ही डेरा प्रमुख का अंगरक्षक प्रीतम सिंह है। हनीप्रीत के साथ राम रहीम दो गाड़ियों में सवार होकर यूपी के लिए रवाना हुआ।

बता दें कि राम रहीम को 40 दिन की पैरोल मिली है। राम रहीम की पैरोल शुक्रवार को मंजूर हुई थी। कागजी प्रकिया पूरी करने के बाद वह शनिवार को बागपत रवाना हो गया। इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि वह राजस्थान में गुरुसर मोडिया में भी जा सकता है।


अबकी बार राम रहीम जेल से बाहर रहकर पहली बार दीवाली मनाएगा। राम रहीम को साल 2016 पंचकूला में सीबीआई कोर्ट ने साध्वी यौन शोषण मामले में सजा सुनाई थी।

आदमपुर उप चुनाव में बाहर आया राम रहीम
राम रहीम को हरियाणा सरकार ने ठीक आदमपुर उप चुनाव और पंचायती चुनावों से पहले पेरोल दे दी। राम रहीम को एक साल में 90 दिन की छुट्‌टी मिल सकती है। अब तक वह 50 दिनों की पेरोल ले चुका है। अब केवल 40 दिन की पैरोल शेष थी, जो कि अब उसकी पूरी हो जाएगी।


पंजाब विधानसभा चुनावों से पहले मिली थी पेरोल
2017 से साधवी यौन शोषण मामले में डेरा प्रमुख सजा काट रहा है। उसे पत्रकार छत्रपति और रणजीत हत्याकांड में भी उसे सजा हो चुकी है। राम रहीम को इसी साल पंजाब चुनाव से ठीक पहले 7 फरवरी को 21 दिन की फरलो मिली थी। इसके बाद 17 जून को राम रहीम 30 दिन की पेरोल मिली थी और वह यूपी के बागपत आश्रम में रूका था। तब उसने वहां पर सत्संग करने शुरू कर दिए थे। अपने प्रेमियों को राम रहीम सोशल मीडिया पर लाइव आकर उनके सवालों के जवाब देने लग गया था।


आधार कार्ड में भी करवाया था बदलाव
राम रहीम ने बागपत आश्रम में 30 दिनों की पेरोल के दौरान उसने अपना आधार कार्ड अपडेट किया। जिसमें कि राम रहीम ने अपने पिता के नाम के आगे शिष्य एवं गद्दीनशीन शाह सतनाम जी महाराज अंकित करवाया है। जबकि पहले राम रहीम के आधार कार्ड पर उनके पिता मग्गर सिंह का नाम अंकित था। पहले डेरा मुखी ने अपने आधार कार्ड में पता शाह सतनाम धाम अंकित करवाया था, जिसे अब बदल कर शाह मस्तान, शाह सतनाम धाम किया गया। आधार कार्ड में अपडेट 22 जून को बागपत आश्रम में किया गया।