Haryana News

दिल्ली अमृतसर कटरा एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा दिल्ली-मुबंई एक्सप्रेस वे, हरियाणा केएमपी पर लगाए जा सकते हैं दो टोल

 | 
Delhi-Mumbai Expressway: दिल्ली अमृतसर कटरा एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा दिल्ली-मुबंई एक्सप्रेस वे, हरियाणा केएमपी पर लगाए जा सकते हैं दो टोल

दोनों ही एक्सप्रेस-वे जहां से केएमपी से जुड़ेंगे वहां एचएसआईआईडीसी (HSIIDC) अपने टोल स्थापित करेगी।


Delhi-Mumbai Expressway: दिल्ली से अमृतसर कटरा एक्सप्रेस-वे (Delhi Amritsar Katra Expressway) तथा दिल्ली - मुंबई एक्सप्रेस-वे (Delhi-Mumbai Expressway) का निर्माण कार्य तेजी से चला हुआ है। जिसके वर्ष 2024 तक पूरा होने की संभावना है। फिर इन दोनों ही एक्सप्रेस वे पर वाहन दौड़ने शुरू हो जाएंगे। दोनों ही एक्सप्रेस-वे पर केएमपी (Kmp) की तर्ज पर टोल बूथ स्थापित होंगे। मार्गों पर चढ़ते समय टोल पर्ची लेनी होगी, जो उतरते समय किलोमीटर की काउंटिंग में सहयोग करेगी और किलोमीटर के हिसाब से टोल चुकता करना होगा। दिल्ली जम्मू कटरा एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य युद्ध स्तर पर चला हुआ है। वहीं दूसरी तरफ दिल्ली से मुंबई वाया पलवल क्षेत्र से गुजरने वाले केएमपी से होकर गुजरेगा।


दोनों ही एक्सप्रेस-वे जहां से केएमपी से जुड़ेंगे वहां एचएसआईआईडीसी (HSIIDC) अपने टोल स्थापित करेगी। वर्ष 2024 तक एचएसआईआईडी दोनों ही प्वाइंटों पर टोल स्थापित करेगी। दिल्ली जम्मू कटरा एक्सप्रेस वे का एक प्वाइंट खरखौदा के मारूति प्लांट के पास केएमपी पर जसौर खेड़ी के पास बनाया जाना है। जबकि दूसरा पलवल एरिया में बनेगा। जो वाहन चालक एमपी का प्रयोग करके इन दोनों जगहों से एक्सप्रेस वे चढ़ेंगे, वे जितने किलोमीटर केएमपी पर चलेंगे उन्हें उतना टोल देना होगा।


अथोरिटी भी अपने टोल बना रही है। उनके साथ बैठक की जाएगी, उसी स्थान पर या तो एचएसआईआईडीसी अपना बूथ लगा देगी इसके बाद नैशनल हाईवे अथोरिटी अपनी पर्ची देगी तो दूसरी तरफ से आने वाले वाहनों से नेशनल हाईवे टोल ले लेगी और केएमपी पर चढ़ने वाले वाहनों को वे अपनी पर्ची दे देंगे। अगर ये प्लान नहीं हुआ तो एनएसआईआईडीसी अपने बूथ लगवा देगी। -आरपी वशिष्ठ, केएमपी कार्यकारी अधिकारी, एचएसआईआईडीसी, सोनीपत।