Haryana News

Nabard dairy Loan 2024 : नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के अंतर्गत सरकार दे रही है 13 लाख रूपये का फार्मिंग लोन, फटाफट करे आवेदन

 | 
Nabard dairy Loan 2024 : नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के अंतर्गत सरकार दे रही है 13 लाख रूपये का फार्मिंग लोन, फटाफट करे आवेदन
Nabard Dairy Loan 2024 नाबार्ड योजना की शुरुआत केंद्र सरकार के वित्त मंत्री श्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि हमारे देश के बेरोजगार युवाओं को उनके आत्मनिर्भरता के लिए सहायता प्रदान की जाए और उन्हें डेयरी फार्मिंग के क्षेत्र में रोजगार के अवसर प्राप्त करने का मार्ग प्रशस्त किया जाए। इस योजना के अंतर्गत, सरकार द्वारा कम ब्याज दर पर ऋण प्रदान किया जाएगा जिससे युवा उद्यमियों को स्वयं का व्यवसाय शुरू करने के लिए आसानी हो। आवेदन करने के लिए आपको इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा।


नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के अंतर्गत आप डेयरी फार्म शुरू करने के लिए 10 लाख का ऋण प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के तहत दूध उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा और हमारे देश में बेरोजगारी कम हो सकेगी। इस योजना के अंतर्गत दिया जाने वाला ऋण राशि बैंक द्वारा प्रदान की जाएगी। अगर आप भी ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं और नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना 2024 का लाभ उठाना चाहते हैं तो इस लेख में आपको पशुपालन, डेयरी फार्मिंग ऋण और सब्सिडी की जानकारी दी जा रही है और इसे अंत तक पढ़ना है।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना क्या हैं?
नाबार्ड योजना की शुरुआत केंद्र सरकार के वित्त मंत्री श्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि देश के बेरोजगार युवाओं को एक स्वावलंबी रोजगार के अवसर प्राप्त करने में सहायता प्रदान की जाए। नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के तहत, आप 10 लाख रुपये का लोन प्राप्त करके डेयरी फार्म खोल सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत, यदि आप 13.20 लाख रुपये तक के मिल्क प्रोडक्ट खरीदते हैं, तो आपको 20% की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

इस योजना के तहत सरकार द्वारा कम ब्याज पर लोन भी उपलब्ध होगा। पशुपालन विभाग के अंतर्गत, सभी जिलों में नाबार्ड योजना के द्वारा आधुनिक डेयरी स्थापित की जाएगी। इस योजना के तहत, बेरोजगार युवाओं को घर पर ही डेयरी फार्म शुरू करके रोजगार प्राप्त करने का मौका मिलेगा।


नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के उद्देश्य
नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के अंतर्गत डेयरी उद्योग आरंभ करने वाले नागरिकों को बिना किसी ब्याज के ऋण प्रदान किया जाएगा।
Nabard Dairy Farming Yojana देश के नागरिकों को रोजगार सुनिश्चित करने का कार्य करेगी।
सरकार किसानों की आय को बढ़ाने के लिए बड़े पैमाने पर प्रयासरत है।
डेयरी फार्मिंग को अव्यवस्थित से व्यवस्थित बनाने के लिए नया पहल किया जा रहा है।
डेयरी क्षेत्र को सुविधाएँ प्रदान करने और स्व-रोजगार के अवसर बनाने का उद्देश्य है। इससे डेयरी उत्पादन में वृद्धि होगी और नए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।


नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना सब्सिडी
इस योजना के अंतर्गत दूध उत्पाद की प्रोसेसिंग के लिए उपकरण खरीद सकते हैं। अगर आप इसे मशीन खरीदते हैं तो उसकी कीमत 13.20 लाख रुपए तक की होती है, जिस पर 25% यानी 3.30 लाख रुपए तक की कैपिटल सब्सिडी मिल सकती है। नाबार्ड पशुपालन सब्सिडी 3.30 लाख तक की मिल सकती है और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के अंतर्गत आने वाले सभी नागरिकों को योजना के अंतर्गत 4.40 लाख रुपए तक की सब्सिडी दी जाती है। नाबार्ड पशुपालन योजना राशि बैंक द्वारा अनुमोदित की जाएगी और इसमें आवेदन करने वाले लाभार्थी को 25% राशि खुद को देनी होगी।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के लिए पात्रता
आवेदक को भारत में स्थायी निवासी होना आवश्यक है।
नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना 2024 में किसान, कंपनियाँ, व्यक्तिगत उद्यमी, गैर-सरकारी संगठन, संगठित और असंगठित क्षेत्रों को शामिल किया गया है।
इस योजना का लाभ पाने के लिए एक व्यक्ति सिर्फ एक बार ही आवेदन कर सकता है।
नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना 2024 के तहत एक परिवार के एक से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना दस्तावेज़
नबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना में आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज़ों की फोटो कॉपी होनी चाहिए:

पहचान प्रमाण पत्र जैसे की: आधार कार्ड, पेन कार्ड, वोटर आइडी कार्ड आदि।
बिजली का बिल और आधार कार्ड की कॉपी।
आय प्रमाण पत्र की फोटो कॉपी।
व्यवसाय योजना की फोटो कॉपी।
बैंक अकाउंट का विवरण।
मोबाइल नंबर का विवरण।


Nabard Dairy Farm Yojana आवेदन कैसे करें
इस योजना के तहत, व्यवसाय शुरू करने वाले या इसमें रुचि रखने वाले सभी व्यक्ति सीधे बैंक से संपर्क कर सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, इस योजना से लाभ उठाने के लिए आवेदक को बैंक में ऋण के लिए आवेदन करना होगा। आवेदक को बैंक में जाकर आवेदन पत्र भरकर उसे जमा कर देना होगा। इसके बाद, बैंक 10 लाख रुपए का ऋण प्रदान करेगी। यदि ऋण की राशि अधिक है, तो नाबार्ड में परियोजना रिपोर्ट जमा कराना आवश्यक होगा।