Haryana News

अंबानी की यह कंपनी होगी लिस्ट, एक्सपर्ट बोले- ₹160 पर हो सकती है लिस्टिंग! डिविडेंड की भी तैयारी

 | 
अंबानी की यह कंपनी होगी लिस्ट, एक्सपर्ट बोले- ₹160 पर हो सकती है लिस्टिंग! डिविडेंड की भी तैयारी

रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) की फाइनेंस सर्विस ब्रांच जियो फाइनेंशियल सर्विसेज (jio financial services) के अलग होने से स्टॉक पर पॉजिटिव इफेक्ट पड़ने की संभावना है। ब्रोकरेज फर्मों का मानना ​​है कि डीमर्जर में कंपनी और उसके शेयरधारकों के लिए महत्वपूर्ण वैल्यू अनलॉक करने की कैपासिटी है। इससे शेयर की कीमत में 3-5 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है। मंगलवार (18 जुलाई) को सुबह के कारोबार में बीएसई पर रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 1% से अधिक बढ़कर 52-वीक  के  हाई  ₹2,825.95 पर पहुंच गए।

18 इंडेक्स में शामिल
बता दें कि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने सोमवार को कहा कि मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की अलग यूनिट जियो फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड को 20 जुलाई से निफ्टी 50, अन्य इंडेक्स में शामिल किया जाएगा। स्टॉक एक्सचेंज ने कहा कि 20 जुलाई को एक स्पेशल प्री-ओपन सेशन आयोजित किया जाएगा। एक नई नोट में, एक्सिस सिक्योरिटीज ने निवेशकों को रिकॉर्ड डेट यानी 20 जुलाई से पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर खरीदने की सलाह दी है क्योंकि उनका मानना ​​है कि यह Jio फाइनेंशियल सर्विसेज को खरीदने का अधिक किफायती तरीका है। Jio फाइनेंशियल सर्विसेज के शेयर 160 रुपये प्रति शेयर पर लिस्ट हो सकते हैं।

कंपनी ने क्या कहा था
रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 8 जुलाई को बीएसई फाइलिंग में बताया था कि नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल ने जियो फाइनेंशियल सर्विसेज के नियोजित डिमर्जर को मंजूरी दे दी है। इसके लिए 20 जुलाई, 2023 की रिकॉर्ड डेट की घोषणा की गई। आरआईएल ने कहा कि उसके वित्तीय सेवा यूनिट का आरएसआईएल (रिलायंस स्ट्रैटेजिक इन्वेस्टमेंट्स लिमिटेड) में विलय का नाम बदलकर जेएफएसएल (जियो फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड) कर दिया जाएगा। रिलायंस के प्रत्येक शेयरधारक को मूल कंपनी के एक शेयर पर नई फर्म का एक शेयर मिलेगा। यह कंपनी उपभोक्ताओं और कारोबारियों को संपत्ति के आंकड़ों के विश्लेषण के आधार पर ऋण देगी। बाद में यह बीमा, भुगतान, डिजिटल ब्रोकिंग और परिसंपत्ति प्रबंधन सेवाएं भी देगी।